जतोग-संजौली रूट पर एकमात्र एच .आर. टी. सी. बस को मनमर्जी से चला रहे चालक, परिचालक : विकास समिति टुटू

0
471
Sanjauli-Jutog-Bus Service

शिमला- विकास समिति टुटू के अध्यक्ष का कहना है कि गत वर्ष परिवहन निगम की जतोग-संजौली रुट पर दो बसों के रुट परमिट होने के बावजूद भी एक बस के पलायन पर भी आम जनता को परिवहन प्रशासन की बेरूखी के कारण उक्त बस सेवा की उचित सुविधा नहीं मिल पा रही है! विकास समिति टुटू ने कहा क़ि बड़ी जद्दोजहद के बावजूद परिवहन प्रशासन ने इस रुट पर मात्र एक बस चलाई है लेकिन उसका पलायन भी चालकों परिचालकों व् परिवहन प्रशासन की मनमर्जी से हो रहा है!

समिति का कहना है कि उन्होंने क्षेत्रीय प्रबंधक द्वारा जारी ब्यान के मुताबिक़ इस बस सेवा का आखिरी प्रस्थान समय बस अड्डा से जतोग के लिए 9 बजकर कर 15 मिनट निर्धारित किया गया है लेकिन कल जब उन्होने बस में सफर करते हुये चालक परिचालक की जानकारी ली तो पता चला की शाम 6.00 बजे के बाद जतोग के लिए इस बस का प्रस्थान नहीं किया जाता है!

समिति ने कहा कि लंबे समय से बार-बार जतोग,टुटू व आसपास की जनता से समिति को शिकायतें मिल रही हैं की बहाल की गई बस सेवा मनमर्जी से चल रही है! समिति अध्यक्ष ने कहा कि निर्धारित टाईम-टेबल अनुसार परिवहन बस सेवा को न चलाये जाने पर कुछ निम्न स्तर के प्रशानिक अधिकारियों की निजी बस मालिकों के साथ मिली भगत होने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है!

समिति ने आरोप लगा के कहा कि जब बाढ़ ही खेत को खाने लग जाये तो फसल कहाँ से उगेगी और यही हाल सिटी एरिया में परिवहन निगम की स्थानीय बस सेवाओं का है! समिति ने यह भी कहा कि बस न चलाने के कारण जतोग बस की सवारियाँ धामी बस में लोकल सवारियों सफर करने को मजबूर है जिस कारण धामी को जाने वाले सवारियों को खली सीटें नहीं मिल पाती!

समिति अध्यक्ष का यह भी कहना है कि निजी बसें तो इस रूट पर बिना परमिट के रात दस बजे तक चल रही है लेकिन परिवहन निगम की बस सेवा परमिट होने के बावजूद भी निर्धारित टाईम-टेबल अनुसार नहीं रात्रि नौ बजे तक भी नहीं चल रही है जबकि न्यू-शिमला,पन्थाघाटी,संजौली इलाकों को रात्रि दस बजे तक सेवाएँ दी जा रही हैं!

समिति ने कहा कि देखा गया है की शिमला में प्रशासनिक व्यवस्थाएं चरमराने के कारण और निजी बस मालिकों की मनमर्जी से बसों को चलाने और रोकने के कारण शहर की जनता को बेहतर सिटी सर्विस नहीं मिल पा रही है जिस कारण शिमला में रोजाना ट्रैफिक जाम लगता है! समिति ने जतोग-संजौली रूट पर दोनों बसों को बहाल करने की और समय पर चलाने की मांग की है ताकि शिमला ग्रामीण जो की मुख्यमंत्री की निर्वाचन क्षेत्र है उसे बेहतर परिवहन सेवा प्राप्त हो सके!

Photo: Himachal Watcher/Representational Image

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS