बालूगंज-समरहिल सड़क पर रोजाना लंबा ट्रेफिक जाम, निगम और जिला प्रशासन नहीं ले रहा सुध

0
951
Summerhill-road-traffic-jam

जब वीवीआईपी/सी.एम./गवर्नर आते है यूनिवर्सिटी तब कैसे सुचारु होती है ट्रैफिक, आधा किलोमीटर तक लगता है रोजाना लंबा ट्रैफिक जाम!


शिमला-
लगातार पिछले कई वर्षों से बालूगंज -समरहिल सड़क पर ट्रैफिक जाम लग रहा है और विश्वविधालय को आने-जाने वाले सैंकड़ों छात्र और कर्मचारी रोजाना इस ट्रैफिक जाम से परेशान हैं! विश्वविधालय कर्मचारी व समाजसेवी नागेंद्र गुप्ता ने कहा की इस तंग मार्ग की न तो निगम प्रशासन सुध ले रहा है और न ही जिला प्रशासन इस सड़क को चौड़ा करने के लिए कोई गंभीर कदम उठा रहा है!

गुप्ता ने कहा की कई मर्तवा इस मार्ग पर घंटों लगने वाले जाम से निजात पाने के लिए जिला व पुलिस प्रशासन को सुबह शाम बालूगंज की तर्ज पर वाया सांगटी -लोअर समरहिल -बालूगंज वन-वे ट्रैफिक चलाने का सुझाव दिया जा चुका है लेकिन प्रशासन ने आजतक विश्वविधालय मार्ग पर लगने वाले जाम से निजात दिलवाने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं !

नागेन्द गुप्ता ने कहा की जाम के कारण जहां एक ओर वि.वि.कर्मचारी परेशान हैं वहीं अध्यापक वर्ग भी क्लास में समय पर न पहुँचने के कारण चिंता में दिखाई देते हैं! उन्होने कहा की छात्र वर्ग भी लगभग आधे किलोमीटर तक के जाम लगने के कारण रोजाना अपनी क्लास में जाने या परीक्षा केंद्र में पहुँचने के लिए लंबी -लंबी दौड़ लगाते दिखाई देते हैं!

गुप्ता ने कहा की इस बालूगंज-समरहिल तंग सड़क पर वाहन चालक चाहे छात्र हो या कर्मचारी/अध्यापक न तो कहीं गाड़ी छोड़ कर जा सकता है और न ही सड़क किनारे कहीं गाड़ी पार्क कर सकता है!

नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की यदि जिला प्रशासन /पुलिस प्रशासन सुझाए गए वाया सांगटी एकतरफा प्रणाली को सुबह-शाम अमल में लाता है तो निश्चित तौर पर जहां स्थानीय जनता सांगटी ,लोअर समरहिल इलाके की जनता को बेहतर बस सुविधा घर द्वार से प्राप्त होगी वहीं ट्रैफिक भी सुचारू रूप से चलेगी!

गुप्ता ने समरहिल चौक पर चार-चार निजी बसों के बेवजह खड़े होने को भी जाम का मुख्य कारण बताया !

उन्होने निगम प्रशासन से गंगा मार्केट के पास सड़क किनारे पानी की टैंकियों को शिफ्ट कर डंगा लगाने व मलबे को उठाने तथा पुलियों को भी दरुस्त करने की भी मांग की है ताकि रोजाना गंगा मार्केट के तीखे तंग मोड़ पर जाम से निजात मिल सके!

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS