रिकांगपिओ में नेगी लामा तेनज़िन ग्यलछन के जीवन पर राष्ट्रीय संगोष्ठी 17 से 20 नवम्बर तक

0
166
Kalchakra-Temple-Dharamshala

शिमला- बौद्ध विद्या संरक्षण सभा ने बताया कि जिस्पा लाहुल की ओर से ज़िला मुख्यालय रिकांगपिओ में नेगी लामा तेनज़िन ग्यलछन के जीवन और कृतित्व पर केंद्रित चार दिनों की राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। हिमाचल प्रदेश के जनजातीय विकास विभाग के सहयोग से आयोजित यह संगोष्ठी 17 से 20 नवम्बर को रिकांगपिओ के कालचक्र मंदिर परिसर में होगी। इस संगोष्ठी का उद्घाटन 17 नवम्बर की प्रातरू हिमाचल विधानसभा के उपाध्यक्षजगत सिंह नेगी करेंगे। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ लामा करेंगे।

बौद्ध सभा ने यह भी कहा कि इस संगोष्ठी में बोधिचित विषयक व्याख्या भी होगी। नेगी लामा के जीवन और कृतित्व पर इस संगोष्ठी का बीज भाषण साहित्यकार.सम्पादक डाण् तुलसी रमण का होगा। सभा ने बताया कि बीसवीं सदी में नेगी लामा के नाम से चर्चितए बौद्ध विश्व के प्रख्यात विद्वान तेनज़िन ग्यलछन की जन्म भूमि किन्नौर है। यहां के सुन्नम गांव में जन्मे तेनज़िन ने तिब्बत जाकर 22 वर्षों तक वहां के मठों में बौद्ध विद्या का गहन अध्ययन किया। उसके बाद भारत लौटकर उन्होंने बनारसए नालंदाए श्रावस्तीए कुशीनगर और बोध गया आदि ज्ञान केंद्रों में भारतीय बौद्ध ग्रंथों का विस्तृत अध्ययन कियाए साथ ही असंख्य शिष्यों में इस ज्ञान का प्रसार भी किया। नेगी लामा परम पावन दलाई लामा के भी गुरु रहे हैं।

बौद्ध विद्या संरक्षण सभा जिस्पा के अध्यक्ष डाण् टशि पलज़ोर ने कहा कि इस संगोष्ठी में लगभग 40 विद्वान भाग लेंगे जिनमें हिमाचल के की किब्बर, किन्नौर, लाहुल, कुल्लू ,बैजनाथ, धर्मशाला तथा शिमला के बौद्ध विहारों के विद्वान लामा भी होंगे। इनके अतिरिक्त कर्नाटक के भिक्षु योनतन ज़ुंगनेए कुल्लू से छेरिंग दोरजेए तोबदन लाल चंद ढिस्साए नवांग तोबदनए लाहुल से ठिनले नमग्याल एरिगज़िन हायरप्पा अमची करमाए स्पीति से छेरिंग दारगेए फुंचोग राय शिमला से विद्या सागर नेगीए प्रभु लाल नेगीए दिल्ली से प्रोण् हीरागंग नेगी प्रोण् सेम्पा दोरजेए प्रोण्गदन सिंगे आदि की स्वीकृति मिली है।

सभा ने भी बताया कि बनारस तथा सारनाथ से भी पांच विद्वान आमंत्रित हैं। इनके अतिरिक्त किन्नौर के लामा तोबग्ये रोशनलाल नेगीण् काचन हुकम सिंह नेगी रत्न मंजरीए फुंचोग शास्त्रीए भिक्षु देवराज नेगी आदि अनेक स्थानीय बुद्धिजीवी संगोष्ठी में भाग लेंगे। नेगी लामा पर केंद्रित यह ऐतिहासिक महत्व की संगोष्ठी होगी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS