Connect with us

सोलन

कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ा कर मेला लग सकता है लेकिन रक्तदान शिविर नहीं: उमंग फाउंडेशन

Published

on

nalagarh peer mela

आजकल भी आईजीएमसी ब्लड बैंक में रक्त की भारी कमी है। लेकिन सोलन जिला प्रशासन हजारों लोगों की संख्या वाले मेले लगवा सकता है। मगर जीवन रक्षा के लिए रक्तदान शिविर की मंजूरी नहीं दे सकता।

शिमला- उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने नालागढ़ में हुए पीर बाबा के मेले में हज़ारों लोगों के इक्कठा होने को लेकर हिमाचल प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव राम सुभग सिंह से शिकियत दर्ज की है।

प्रो. अजय श्रीवास्तव ने आरोप लगाया कि कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ा कर प्रशासन की सांठगांठ से यह मेला लगा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने कोविड के बहाने से उमंग फाउंडेशन को नालागढ़ में रक्तदान शिविर लगाने की मंजूरी नहीं दी थी।

उन्होंने अपनी शिकायत में सोलन के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और नालागढ़ के एसडीएम एवं अन्य संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध संक्रमण फैलाने के मामले में केस दर्ज कर उन्हें निलंबित करने की मांग की है।

फाउंडेशन अध्यक्ष ने कहा कि मेला एक सप्ताह से बेरोकटोक चल रहा है और अब तक उसमें कई हजार लोग शामिल हो चुके हैं।

अपनी शिकायत में उन्होंने प्रमाण के तौर पर समाचार पत्रों की खबरें भी लगाई हैं। उन्होंने मुख्य सचिव से कहा है कि यह डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट का खुला उल्लंघन है। मेले में 2 गज की दूरी, मास्क एवं सैनिटाइजर जैसे सुरक्षा उपाय दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहे।

उन्होंने कहा कि प्रशासन की नाक तले इतनी बड़ी व्यापारिक गतिविधि चलाने में भ्रष्टाचार की गुंजाइश भी नजर आती है।

श्रीवास्तव ने कहा कि वह मुख्य सचिव से मांग करते है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए और मुख्य चिकित्सा अधिकारी, नालागढ़ के एसडीएम एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए ताकि वे जांच को प्रभावित न कर सकें।उन्होंने यह भी कहा कि यह अत्यंत गंभीर मामला है और सोलन जिला प्रशासन ने लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया है।

प्रो.श्रीवास्तव ने कहा स्वास्थ्य विभाग द्वारा 20 मार्च 2020 और 17 मई 2021 को रक्तदान शिविरों को कोविड-19 के तहत मंजूरी देने के के निर्देश सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को दिए गए थे। इसके बावजूद सोलन के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और नालागढ़ के एसडीएम ने उमंग फाउंडेशन को रक्तदान शिविर लगाने की मंजूरी नहीं दी।

उन्होंने बताया कि इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से भी की गई,लेकिन यही अधिकारी एक हफ्ते तक पीर स्थान में मेला चलवाते रहे।

उन्होंने कहा कि उमंग फाउंडेशन मार्च 2020 में लॉकडाउन लगने के बाद से लेकर अभी तक कोरोना नियमों का पालन करते हुए 23 रक्तदान शिविर लगा कर आईजीएमसी शिमला को सेकंड यूनिट रक्त दे चुका है।

उन्होंने कहा कि आजकल भी आईजीएमसी ब्लड बैंक में रक्त की भारी कमी है। लेकिन सोलन जिला प्रशासन हजारों लोगों की संख्या वाले मेले लगवा सकता है। मगर जीवन रक्षा के लिए रक्तदान शिविर की मंजूरी नहीं दे सकता।

Advertisement

कैम्पस वॉच

सेब में हो रही रस्टिंग की समस्या के बारे में जागरूकता और अनुसंधान करने की आवश्कयता: डॉ. कौशल

Published

on

Dr YS Parmar University of Horticulture and Forestry, Nauni

शिमला- डॉ. यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी के कुलपति डॉ. परविंदर कौशल ने विश्वविद्यालय परिसर में राज्य में बागवानी के सुधार में विश्वविद्यालय की भूमिका पर किसान प्रेम चौहान और हरीश चौहान के साथ चर्चा की।

डॉ. कौशल ने बताया कि किसानों ने उनसे विश्वविद्यालय से पिछले कुछ वर्षों से सेब में हो रही रस्टिंग की समस्या के बारे में अधिक जागरूकता और अनुसंधान करने का अनुरोध किया।

इस मौके पर राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता बागवान प्रेम चौहान ने कहा कि किसानों को स्प्रे शेड्यूल का पालन करने की जरूरत है। उन्होंने विश्वविद्यालय से’कंट्रोल स्प्रे शेड्यूल’ तैयार करने का भी अनुरोध किया ताकि इसे और अधिक किफायती बनाया जा सके।

बागवान चौहान ने स्नातक छात्रों को सुझाव दिया की छात्रों को किसान के खेतों में बागवानी फसलों के लिए व्यावहारिक मॉडल स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए और ऐसे मॉडल को डिग्री के दौरान अंक भी दिये जाने चाहिए।

हिल स्टेट्स हॉर्टिकल्चर फोरम के संयोजक हरीश चौहान ने इम्पोर्टिड रोपण सामग्री के उचित क्वारंटाइन का मुद्दा उठाया। उन्होंने इस तरह की गतिविधियों में विश्वविद्यालय की अधिक भूमिका निभाने का आह्वान किया ताकि किसान के खेत में केवल रोग और कीट मुक्त सामग्री ही पहुंचे।

उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि विश्वविद्यालय को विभिन्न फलों जैसे नाशपाती के लिए स्प्रे शेड्यूल तैयार करना चाहिए, क्योंकि बड़ी संख्या में बागवान इसकी खेती कर रहे हैं।

डॉ. कौशल ने किसानों के सुझावों की सराहना की और कह कि यह प्रयास किया जायेगा कि इसे विश्वविद्यालय के कार्यक्रमों में लागू किया जा सके।

बातचीत के दौरान, डॉ कौशल ने विश्वविद्यालय द्वारा पिछले कुछ वर्षों में अपनी पहुंच में सुधार के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों को साझा किया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अपने अनुसंधान और विस्तार कार्यक्रमों को अंतिम रूप देने के लिए किसानों और विशेषज्ञों से सक्रिय रूप से बातचीत करता है।

इस उद्देश्य के लिए राज्य के प्रगतिशील किसानों की सक्रिय भागीदारी के साथ नियमित रूप से विचार-मंथन सत्र आयोजित किए जाते हैं।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के विस्तार कार्यक्रमों की पहुंच बढ़ाने और विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किए जा रहे कुशल मानव संसाधन का कृषक समुदाय की बेहतरी के लिए उपयोग पर भी चर्चा की गई।

Continue Reading

कैम्पस वॉच

नौणी विश्वविद्यालय में इंटर कॉलेज स्पोर्ट्स एण्ड गेम्स और यूथ फेस्टिवल का सोमवार को हुआ समापन

Published

on

Students of College of Horticulture

सोलन– औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी में 5वें इंटर कॉलेज स्पोर्ट्स एण्ड गेम्स और यूथ फेस्टिवल का समापन बीते सोमवार को हो गया है इस दौरान इस चार दिवसीय कार्यक्रम के अंतिम दिन पुरस्कार वितरण समारोह आयोजन भी किया गया।

औद्यानिकी कॉलेज के छात्रों ने स्पोर्ट्स की ओवरऑल ट्रॉफी और यूथ फेस्टिवल की प्रतियोगिताओं में अपने शानदार प्रदर्शन से सांस्कृतिक कार्यक्रम की ओवरऑल ट्रॉफी अपने नाम की है। वहीं एथ्लेटिक्स की ओवरऑल ट्रॉफी वानिकी महाविद्यालय ने अपने नाम की है। इस दौरान सभी कार्यक्रमों में चारों कॉलेजों की टीमों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिली।

UHF nouni 1

अंतिम दिन नौणी विवि की कुलपति डा. परविंदर कौशल ने विजेताओं को पुरस्कार बांटे। छात्रों को उनके शानदार प्रदर्शन पर बधाई देते हुए उन्होनें कहा कि पाठ्येतर गतिविधियां छात्र जीवन का एक अभिन्न अंग है। उन्होनें आशा जताई कि भविष्य में पढ़ाई और अनुसंधान के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के साथ-साथ खेलों में भी विश्वविद्यालय के छात्र देश, प्रदेश और विश्वविद्यालय का नाम रोशन करेगें। छात्र कल्याण अधिकारी डॉ जेके दुबे ने सभी विजेताओं और प्रतिभागियों को बधाई दी है।

UHF nouni 2

लड़कियों में बेस्ट एथ्लीट वानिकी महाविद्यालय की याचना रही। वहीं लड़कों की बेस्ट एथ्लीट की ट्रॉफी औद्यानिकी महाविद्यालय के छात्र रोहित ने अपने नाम की। विश्वविद्यालय ने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को डॉ पूरन अधलखा अवार्ड से सम्मानित किया जिसमें ट्रॉफी, सर्टिफिकेट और नकद राशि शामिल है। डॉ अधलखा, कृषि महाविद्यालय सोलन के पहले प्रिन्सिपल थे। यह अवार्ड वानिकी महाविद्यालय के छात्र मृदुल और सिमरन ने जीता।

इस अवसर पर यूथ फेस्टिवल के भी अवार्ड दिए गए

वक्तृता में औदयानिकी कॉलेज की महक प्रथम और नेरी की इनायत दूसरे स्थान पर रही। डिबेट में औदयानिकी कॉलेज की प्रिया और सुमिता ने पहला और नेरी की अक्षिता ने दूसरा स्थान हासिल किया। लिटरेरी इवैंट में नेरी की आकांक्षा ने पहला और औदयानिकी कॉलेज के यादें ने दूसरा स्थान हासिल किया। वन एक्ट प्ले में वानिकी  कॉलेज पहले और औदयानिकी कॉलेज दूसरे स्थान पर रहा।

UHF nouni 3

स्किट में औदयानिकी कॉलेज पहले और वानिकी कॉलेज दूसरे स्थान पर रहा। माइम में औदयानिकी कॉलेज और वानिकी कॉलेज पहले और थुनाग कॉलेज दूसरे स्थान पर रहा। मोनोक्टिंग में थुनाग की भारती पहले और नेरी की अक्षिता ने दूसरा स्थान हासिल किया। ऑन स्पॉट पेंटिंग में नेरी के अभिषेक ने पहला स्थान हासिल किया जबकि थुनाग की स्मृति दूसरे स्थान पर रही। कोलाज मेकिंग में नेरी की रिद्धि ने पहला और नैनीका ने दूसरा स्थान हासिल किया। पोस्टर मेकिंग में औदयानिकी कॉलेज की अलिशा प्रथम और वानिकी कॉलेज की शिवानी द्वितीय स्थान पर रही।

इसके अलावा रंगोली में औदयानिकी कॉलेज की नंदिनी ने पहला और वानिकी की रिया, थुनाग की शीना और नैन्सी ने दूसरा स्थान हासिल किया। लाइट वोकल में औदयानिकी कॉलेज के मोहित ने पहला और वानिकी कॉलेज की निहारिका ने दूसरा स्थान हासिल किया।  देश-भक्ति के गीत में वानिकी महाविद्यालय पहले और नेरी महाविद्यालय दूसरे स्थान पर रहा। ग्रुप सॉन्ग में वानिकी पहले और नेरी दूसरे स्थान पर रहा। ग्रुप डांस में वानिकी महाविद्यालय ने बाज़ी मारी। नेरी महाविद्यालय दूसरे स्थान पर रहा।

Continue Reading

खेल

नौणी विश्वविद्यालय में हुई चौथे स्टेट मास्टर्स गेम्स में सोलन ने जीती ओवेरालल ट्रॉफी, सिरमौर दूसरे स्थान पर

Published

on

UHF nauni fourth state masters games

सोलन-डॉ यशवंत सिंह परमार औदयानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी में आज चौथे स्टेट मास्टर्स गेम्स का समापन हुआ। समापन समारोह में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ परविंदर कौशल ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस मौके पर उन्होनें विभिन्न खेल प्रतियोगिता में विजयी रहे खिलाड़ियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में डॉ कौशल ने खेलों के उत्साह और रोमांच को सभी आयु वर्ग तक पहुंचाने के लिए मास्टर्स गेम्स एसोसिएशन के प्रयासों की सराहना की और कोरोना के बावजूद खेलों का लगातार आयोजन करने के लिए असोशिएशन की प्रशंसा की।

डॉ कौशल ने कहा कि खेल के मैदान की ओर बढ़ो, जो मन और शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। उन्होनें कहा कि कोई भी गतिविधि जो आपको फिट और शारीरिक रूप से मजबूत रखती है, उनका प्रयोग लगातार किया जाना चाहिए और दूसरों को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

state masters games in UHF nauni

उन्होंने कहा कि एसोसिएशन एक महान संदेश फैला रही है कि उम्र शरीर को फिट और स्वस्थ रखने के लिए कोई बाधा नहीं है। उन्होंने कहा कि माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद में भाग लेने के लिए भी प्रोत्साहित करें। डॉ कौशल ने खेल और फिटनेस आंदोलन के राजदूत होने के लिए 85+ आयु वर्ग के सभी प्रतिभागियों की विशेष प्रशंसा की।

मेरिडियन मेडिकेयर के एमडी विनोद कुमार गुप्ता इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि रहे। उन्होंने मास्टर्स गेम्स एसोसिएशन के प्रयासों की सराहना की और विजेताओं को बधाई दी।

इससे पूर्व हिमाचल स्टेट मास्टर्स गेम्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विनोद कुमार ने खेलों में भाग लेने वाले विभिन्न जिलों के प्रतिभागियों का धन्यवाद किया और बधाई दी। उन्होंने संघ द्वारा संचालित गतिविधियों के बारे में बताया कि दो दिवसीय आयोजन के दौरान 30 से 85+ आयु वर्ग के 300 से अधिक प्रतिभागियों ने एथलेटिक्स, हॉकी, वॉलीबॉल, टेबल टेनिस आदि जैसे 10 खेलों में भाग लिया।

उन्होंने बताया कि पूरे देश में 28 संघों के 40,000 से अधिक सदस्य भारत में मास्टर्स खेलों के सदस्य बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह खेल सभी आयु वर्ग के लोगों को एक मंच प्रदान करते हैं जो खेल गतिविधियों में भाग लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट में यह खेल किसी आंदोलन से कम नहीं है।

मुख्य अतिथि ने विभिन्न आयोजनों के विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किए। सोलन जिला ने ओवेरालल ट्रॉफी जीती जबकि सिरमौर जिला दूसरे स्थान पर रहा।

विनोद कुमार, अध्यक्ष, एचपी स्टेट मास्टर गेम्स एसोसिएशन, महासचिव तेजस्वनी शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ. चंद्रेश्वर शर्मा, डॉ अश्विनी कुमार, यशपाल कपूर; संयुक्त सचिव मनोज कंवर, सीमा परमार, केवल राम, सुरेश हांडा एवं जिला संघ से राजेश कौशिक एवं हेम कुमार, मदन हिमाचली, प्रधान नौणी पंचायत एवं विश्वविद्यालय के अधिकारी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

Continue Reading

Featured

sanwara toll plaza sanwara toll plaza
अन्य खबरे3 days ago

सनवारा टोल प्लाजा पर अब और कटेगी जेब, अप्रैल से 10 से 45 रुपए तक अधिक चुकाना होगा टोल

शिमला- कालका-शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग-5 पर वाहन चालकों से अब पहली अप्रैल से नई दरों से टोल वसूला जाएगा। केंद्रीय भूतल...

hpu NSUI hpu NSUI
कैम्पस वॉच2 weeks ago

विश्वविद्यालय को आरएसएस का अड्डा बनाने का कुलपति सिंकदर को मिला ईनाम:एनएसयूआई

शिमला- भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ने हिमाचल प्रदेश के शैक्षणिक संस्थानों मे भगवाकरण का आरोप प्रदेश सरकार पर लगाया हैं।...

umang-foundation-webinar-on-child-labour umang-foundation-webinar-on-child-labour
अन्य खबरे2 weeks ago

बच्चों से खतरनाक किस्म की मजदूरी कराना गंभीर अपराध:विवेक खनाल

शिमला- बच्चों से खतरनाक किस्म की मज़दूरी कराना गंभीर अपराध है। 14 साल के अधिक आयु के बच्चों से ढाबे...

himachal govt cabinet meeting himachal govt cabinet meeting
अन्य खबरे2 weeks ago

हिमाचल कैबिनेट के फैसले:प्रदेश में सस्ती मिलेगी देसी ब्रांड की शराब,पढ़ें सभी फैसले

शिमला- मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित प्रदेश मंत्रीमंडल की बैठक में आज वर्ष 2022-23 के लिए आबकारी नीति...

umag foundation shimla ngo umag foundation shimla ngo
अन्य खबरे2 weeks ago

राज्यपाल से शिकायत के बाद बदला बोर्ड का निर्णय,हटाई दिव्यांग विद्यार्थियों पर लगाई गैरकानूनी शर्तें: प्रो श्रीवास्तव

शिमला- हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की दिव्यांग विरोधी नीति की शिकायत उमंग फाउंडेशन की ओर से राज्यपाल से करने के...

Chief Minister Jai Ram Thakur statement on outsourced employees permanent policy Chief Minister Jai Ram Thakur statement on outsourced employees permanent policy
अन्य खबरे3 weeks ago

आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए स्थाई नीति बनाने का मुख्यमंत्री ने दिया आश्वासन

शिमला- प्रदेश सरकार आउटसोर्स कर्मचारियों के मामलों को हल करने के लिए प्रतिबद्ध है और उनकी उचित मांगों को हल...

rkmv college shimla rkmv college shimla
अन्य खबरे3 weeks ago

आरकेएमवी में 6 करोड़ की लागत से नव-निर्मित बी-ब्लॉक भवन का मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण

शिमला- राजकीय कन्या महाविद्यालय (आरकेएमवी) शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 6 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित बी-ब्लॉक का...

umang-foundation-webinar-on-right-to-clean-environment-and-social-responsibility umang-foundation-webinar-on-right-to-clean-environment-and-social-responsibility
अन्य खबरे3 weeks ago

कोरोना में इस्तेमाल किए जा रहे मास्क अब समुद्री जीव जंतुओं की ले रहे जान:डॉ. जिस्टू

शिमला- कोरोना काल में इस्तेमाल किए जा रहे मास्क अब बड़े पैमाने पर समुद्री जीव जंतुओं जान ले रहे हैं।...

HPU Sfi HPU Sfi
कैम्पस वॉच3 weeks ago

जब छात्र हॉस्टल में रहे ही नहीं तो हॉस्टल फीस क्यों दे:एसएफआई

शिमला- प्रदेश विश्वविद्यालय के होस्टलों में रह रहे छात्रों की समस्याओं को लेकर आज एचपीयू एसएफआई इकाई की ओर से...

himachal bhajpa himachal bhajpa
राजनीति3 weeks ago

आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर भाजपा ने कसी कमर,21 से 24 मार्च को हर संसदीय क्षेत्र में करेगी मंथन:जम्वाल

शिमला- पांच राज्यों के विधानसभ चुनावों में 4 राज्यों में भाजपा की सरकार बनने के बाद अब हिमाचल में भी...

Trending