Shimla Sweet Shops

शिमला- त्यौहारी सीजन के दौरान मिठाई कारोबारी अब बिना रेट लिस्ट के मिठाइयां नहीं बेच सकेंगे। मिठाई बेचने वाले सभी कारोबारियों को अब मिठाइयों की रेट लिस्ट लगाना आवश्यक है और बिना रेट लिस्ट के मिठाइयां बेचने वाले कारोबारियों पर जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की कड़ी निगरानी रहेगी।

सीजन के दौरान राजधानी सहित दर्जनों स्थानों पर बाहरी राज्यों से पैकेट बंद मिठाइयां आती हैं और हर स्टेशन पर एक तरह की मिठाई के अलग-अलग दाम ग्राहकों से वसूल किए जाते हैं जिसको लेकर विभाग द्वारा अब निगरानी की जाएगी। विभाग द्वारा इस दौरान प्रतिवर्ष की भांति इस बार भी अलग-अलग क्षेत्रों में छापेमारी के लिए टीमें गठित की जाएंगी ताकि सीजन के दौरान जनता को महंगाई की मार से बचाया जा सके।

इसके साथ ही सीजन के दौरान बाहरी राज्यों से आने वाली कई प्रकार की मिठाइयों में अधिक लाभ कमाने के लिए मिलावट भी की जाती है जिस पर विभाग द्वारा संबंधित विभागों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

नैट वेट पर ही बेची जा सकेंगी मिठाइयां

अधिकतर कारोबारियों द्वारा मिठाई डिब्बे के साथ ही तोली जाती है जिससे कारोबारियों को अच्छा लाभ होता है लेकिन इससे जनता को नुक्सान होता है। एक किलो मिठाई खरीदने पर उसे करीब 100 ग्राम के डिब्बे में ग्राहक को दिया जाता है।

अधिकतर बड़े स्तर के कई होटलों में तो मिठाई नैट वेट के साथ दी जाती है लेकिन कई कारोबारियों द्वारा डिब्बे के साथ ही मिठाई को तोला जाता है जिससे वह मिठाई ग्राहक को और भी महंगी पड़ती है। ऐसे में विभाग ने नैट वेट पर मिठाई बेचने के निर्देश दिए हैं।

Photo: guidetripcomdelhitour/Representational

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS