सावधान: आइजीएम्सी में घूम रहा फर्जी डॉक्टरों का गिरोह, सस्ता इलाज कराने के नाम पर लोगों से ठगी

0
1883
igmc-building-in-shimla

शिमला- प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल आइजीएम्सी में फर्जी डॉक्टरों के गिरोह घूमने का मामला सामने आया है। ये गिरोह मरीजों को सस्ता इलाज कराने के नाम पर उनसे ठगी करता है। यही नहीं फर्जी चिकित्सकों ने अपना मोबाईल नंबर भी मरीजों को दे रखा था जिसपर उनसे संपर्क किया जा सके।

ये फर्जी चिकित्स्क अस्पताल के सभी वार्डो में घूमते है और मरीजों व तीमारदारों को अपना शिकार बनाते है। आईजीएमसी प्रशासन को मामले की सूचना मिलते ही सभी को अलर्ट कर दिया है और मामले की जाँच की जा रही है।

जानिए क्या है मामला

जानकारी के मुताबिक अस्पताल में पिछले कई दिनों से फर्जी चिकित्सकों का गिरोह काम कर रहा है जो मरीजों और तीमारदारों को अपना शिकार बना कर उनसे ठगी कर रहा था। मामले का पता तब चला जब गुरुवार रात को सर्जरी विभाग में दो डॉक्टर सुरेश और खयला जो की फर्जी है मरीजों को झांसा दे रहे थे और उनसे सस्ते उपकरण दिलाने की बात कर रहे थे तभी मौके पर तैनात सुरक्षाकर्मी की नजर उस चिकित्स्क पर पड़ी लेकिन जब सुरक्षा कर्मी ने डॉक्टर की नेम प्लेट देखी तो उसमे सुरेश लिखा हुआ था।

सुरक्षा कर्मी ने यह बात अन्य चिकित्स्क को बताई। लेकिन मौके पर तैनात चिकित्सक व नर्स ने साफ कहा की इस तरह का कोई डॉ अस्प्ताल में नहीं है। गौरतलब है की आईजीएमसी में 1500 के लगभग चिकत्सक काम करते हैं लेकिन उमने से अधिकतर चिकत्सक ड्यूटी के समय भी ना तो अपना सफेद कोट डालते हैं और ना ही उनके पास कोई पहचान पत्र होता है। ऐसे में फर्जी चिकित्सक बनकर कोई भी आसानी से ठगी कर सकता है।

इस सम्बन्ध में आईजीएमसी के डिप्टी एमएस ड्रॉ राहुल रॉय ने कहा कि अस्पताल में फर्जी डॉक्टर होने का मामला सामने आया है मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा की उनके पास दो फोन नंबर भी है जो पुलिस को दे दिया गया है उसे ट्रेस कर आसानी से उनतक पहुंचा सकेगा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS