तृतीय मनोहर सिंह स्मृति समारोह की सातवीं संध्या पर ‘‘मेरा वो मतलब नहीं था’’ नाटक का मंचन

0
187

शिमला- सात दिवसीय नाट्य समारोह की सातवीं संध्या पर एक्टर प्रिपेयर प्रोडक्शन, मुम्बई की प्रस्तुति ‘‘मेरा वो मतलब नहीं था’’ नाटक का मंचन किया गया। जिसके निर्देशक राकेश बेदी और मुख्य भूमिका में प्रख्यात सिने अभिनेता अनुपम खेर, नीना गुप्ता और स्वयं राकेश बेदी थे।

नाटक में प्रीतम कुमार चोपड़ा और हेमा राय जो दिल्ली के चांदनी चौक में पले और बड़े हुए। साथ पढ़ते समय से ही वे एक-दूसरे को चाहने लगे। परिस्थितियों के अनुसार वे एक दूसरे से अलग हो गये। और उन्हें लगा कि दूसरों द्वारा उन्हें नीचा दिखाया जा रहा हैं। अन्तराल के बाद वे दिल्ली के लोधी गार्डन में पुनः मिलते है और अन्तरमन की बाते करते हैं और उन्हें मालूम होता है कि वे एक दूसरे के बारे में गल्तफहमियों का शिकार होते हैं। इसी विषय पर नाटक की कहानी घूमती है।

नाट्य समारोह की सातवीं व अंतिम संध्या पर मुख्य अतिथि के रूप में हिमाचल प्रदेश के महामहिम राज्यपाल आचार्य देवव्रत परिवार सहित विराजमान हुए और साथ ही उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल राम नाईक भी परिवार सहित विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे। श्रीमती अनुराधा ठाकुर सचिव भाषा एवं संस्कृति ने मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथियों का पारम्परिक ढ़ग से स्वागत एवं सम्मान किया। तथा सभागार में उपस्थित शिमला शहर के गणमान्य व्यक्तियों और बहुत संख्या में नाटक प्रेमी दर्शकों का स्वागत किया।

नाटक की समाप्ति पर सभी कलाकारों का परिचय करवाया गया और मुख्य अतिथि द्वारा हिमाचली टोपी पहनाकर सम्मानित किया गया। शशि ठाकुर निदेशक भाषा विभाग ने मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों तथा दर्शकों का कार्यक्रम में पधारने पर धन्यवाद किया तथा विभाग द्वारा आगामी योजनाओं की जानकारी भी दी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS