शिमला में पीलिया पीड़ित रोगियों का आंकड़ा 600 के पार, टेस्ट के लिए लगी रहीं लंबी कतारें

1
238

शिमला- रिपन अस्पताल शिमला में मंगलवार को पीलिया के 36 नए मामले आए। ऐसे में शिमला में इस महीने पीलिया से पीड़ित रोगियों का आंकड़ा 600 से पार हो गया है। शिमला के अस्पतालों में पीलिया के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। डीडीयू में पीलिया के टेस्ट करवाने के लिए लैब के बहार लोगों की लंबी कतारें लगी रहीं।

लोग टेस्ट के लिए घंटों अपनी बारी का इंतजार करते हैं। पीलिया की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभाग भी जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग ने पीलिया की रोकथाम के लिए अस्पतालों में पुख्ता इंतजाम किए हैं। लोग भी पीलिया को लेकर पूरी सावधानी बरत रहे हैं। पिछले सालों के मुकाबले इस बार पीलिया के आंकड़े कहीं ज्यादा चौकाने वाले हैं। वहीं, हकीमों के घरों में कई लोग पीलिया की झाड़-फूंक करवाने आ रहे हैं।

चिकित्सकों का मानना है कि पीलिया सामान्य रोग है जो दूषित पानी व संक्रमण से फैलता है और झाड़-फूंक से ठीक नहीं होता है। पीलिया के लक्षण दिखने पर तुंरत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। पीलिया के ज्यादातर मामले विकास नगर, न्यू शिमला व चौड़ा मैदान से आ रहे हैं। सर्दियों में पीलिया के ज्यादा मामले सामने आते हैं। इस रोग से बचने के लिए लोगों को पानी उबाल कर पीना चाहिए।

पीलिया से निपटने के लिए अस्पताल में पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। बुखार होने पर जरूरी नहीं कि आदमी को पीलिया हो ही जाए। लोग पानी उबाल कर पीएं तो इस रोग से बचा जा सकता है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें