फिल्म निर्माण से प्रदेश में पर्यटन गतिविधियों को मिल सकता है बढ़ावा

0
288
movie-camera

movie-camera

“हिमाचल प्रदेश को कुदरत ने अदभुत सुंदरता से नवाजा है जिससे राज्य का प्राकृतिक सौंदर्य और माहौल फिल्म निर्माताओं के लिए फिल्म निर्माण के लिए अनुकूल है और प्रदेश में फिल्म निर्माताओं के आने से में पर्यटन विकास गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा”

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बरज ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा मुम्बई में आयोजित ’शूट ऐट साईट’ सम्मेलन में विभिन्न फिल्म निर्माता कम्पनियों के साथ विचार.विमर्श करते हुए प्रदेश के पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग के निदेशक सुभाशीष पांडा ने हिमाचल प्रदेश के प्राकृतिक सौंदर्य ,संस्कृति , कला एवं आतिथ्य की जानकारी दी। उन्होंने फिल्म निर्माताओं से राज्य में फिल्म निर्माण के लिए आमंत्रित करते हुए कहा कि राज्य का प्राकृतिक माहौल इसके लिए अनुकूल है।

पांडा ने कहा कि प्रदेश में फिल्म निर्माताओं के आने से राज्य में पर्यटन विकास गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि विगत में भी राज्य में अनेक विख्यात फिल्मों का निर्माण हुआ है। प्रदेश की विविध भौगोलिक परिस्थितियां , सांस्कृतिक धरोहर एवं परम्पराएं फिल्म निर्माता घरानों के लिए आकर्षण का केन्द्र है। राज्य में 2200 होटल हैं , जिनमें हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के 57 होटल भी शामिल हैं , जो प्रदेश के प्राकृतिक नजारों से भरपूर स्थलों पर स्थित है।

वहीं टूरिज्म ट्रैवल.ट्रेड के साथ बायर.सैलर मीट का भी आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि बालाजी मोशन पिक्चरज लिमिटेड , राहुल राॅय प्रोडक्शन , फिल्म सिटी स्टूडियोज इत्यादि सहित बड़ी संख्या में फिल्म निर्माता घरानों के साथ विचार.विमर्श किया गया तथा भविष्य में हिमाचल प्रदेश में फिल्म शूटिंग की संभावनाओं पर चर्चा की गई।

फिल्म कलाकार राहुल राॅय ने उनकी आनी वाली फिल्म की राज्य में शूटिंग के लिए रूचि दिखाई।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS