हिमाचल की सबसे कम उम्र की पंचायत प्रधान ने शराबबंदी की पहल कर किया प्रदेश का नाम रोशन

0
712
Youngest-Panchayat-Pradhan-in-Himachal-Jabna-Chauhan

मंडी- हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला की सबसे कम उम्र की पंचायत प्रधान जबना चौहान ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर 8 मार्च को ऐसा काम किया है जिसकी राज्यपाल भी तारीफ कर चुके हैं। अब जबना चौहान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में स्वच्छता व शराबबंदी का पाठ पढ़ाएगी। सराज हलके की थरजूण पंचायत की युवा प्रधान जबना चैहान स्वच्छता व शराबबंदी पर प्रदेश में मिसाल पैदा करने के उपरांत अब देश को जागरूक करेगी। गरीब परिवार में पैदा हुई जबना चौहान ने मात्र एक साल की समय अवधि में पंचायत में शराबबंदी की पहल कर वह काम करके दिखाया है जिसकी शायद किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। 22 साल की उम्र में प्रधान बनने के बाद जबना चौहान ने थरजून पंचायत को स्वच्छ बनाने में बेहतर काम किया है।

Mandi Gram Panchayat Pradhan Jabna Chauhan

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने दी बधाई

नशे के खिलाफ शराबबंदी जैसा प्रस्ताव पंचायत की आम सभा की बैठक में पारित करवा कर जिला की इस युवा प्रधान ने प्रदेश के सामने एक मिसाल पेश की है, जिसके लिए अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के समापन अवसर पर प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने उन्हें बधाई दी। अब जबना चौहान अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर 7 व 8 मार्च को गुजरात के गांधीनगर में होने वाले राष्ट्रीय स्तर के स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में भाग लेगी और देशभर से हजारों की तादाद में आने वाली महिलाओं को स्वच्छता व शराबबंदी के प्रति जागरूक करेगी।
Mandi Tharjoon Gram Panchayat Pradhan Jabna Chauhan

सर्वश्रेष्ठ प्रधान के अवार्ड से हो चुकी हैं सम्मानित

जबना चौहान इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए रविवार को मंडी से गुजरात के लिए रवाना हो गई है। इससे पहले थरजूण पंचायत ने जिला में स्वच्छता के क्षेत्र में प्रथम स्थान हासिल किया है जिसके लिए जबना चौहान को मुख्यमंत्री ने मंडी दौरे के दौरान बैस्ट प्रधान के अवार्ड से सम्मानित किया था।

चित्र:विभिन्न दैनिक अख़बार

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS