दिल्ली का जो किराया पहले 863 रुपए था, अब लग्जरी टैक्स के साथ यही किराया 915 रुपए चुकाना होगा। इसी तरह से चम्बा से दिल्ली चलने वाली वोल्वो बस का किराया पहले 1438 रुपए था, यह अब 6 फीसदी लग्जरी टैक्स लगने के बाद 1524 रुपए हो गया है, ऐसे में यात्रियों को प्रति सीट अब 86 रुपए अधिक किराया चुकाना होगा।

शिमला- परिवहन निगम की लग्जरी बसों में आरामदायक सफर यात्रियों को महंगा पड़ गया है। निगम की बसों में इस माह से 6 फीसदी लग्जरी टैक्स की वसूली शुरू कर दी है जोकि यात्रियों को किराए के रूप में चुकानी पड़ रही है।

अब शिमला से दिल्ली व अन्य पर्यटन स्थलों से आने-जाने वाली वोल्वो सहित डीलक्स एसी बसों में पर्यटकों सहित प्रदेशवासियों को पहले से अधिक किराया चुकाना पड़ेगा। वोल्वो बसों में शिमला से दिल्ली का जो किराया पहले 863 रुपए था, अब लग्जरी टैक्स के साथ यही किराया 915 रुपए चुकाना होगा। इसी तरह से चम्बा से दिल्ली चलने वाली वोल्वो बस का किराया पहले 1438 रुपए था, यह अब 6 फीसदी लग्जरी टैक्स लगने के बाद 1524 रुपए हो गया है, ऐसे में यात्रियों को प्रति सीट अब 86 रुपए अधिक किराया चुकाना होगा।

बाहरी राज्यों में लग्जरी बसों में बढ़े भाड़े के चलते निगम ने भी प्रदेश में इस लग्जरी टैक्स को वसूलना शुरू कर दिया है। निगम की बसों में पहली बार लग्जरी टैक्स लगाया गया है। बाहरी राज्य को आने-जाने वाली सामान्य बसों के किराए में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। उधर, लग्जरी टैक्स वसूली के बाद एसोसिएशन स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग ने लग्जरी टैक्स का निर्णय वापस लेने के लिए केन्द्र पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। इस संबंध में केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया है।

एचआरटीसी के पास 52 वोल्वो सहित 20 लग्जरी बसें हैं। निगम की इन लग्जरी बसों में टैक्स लगाने के बाद महंगे हुए किराए के बाद एचआरटीसी को भी नुक्सान उठाना पड़ सकता है। स्टेज कैरिज की तरह चलने वाली निगम की बसों को यात्रियों की संख्या कम होने पर भी प्रतिदिन के हिसाब से पूरी सीटों का टैक्स देना पड़ता है, वहीं प्रतिदिन प्रदेश में बाहरी राज्य से अवैध तरीके से आ रही निजी वोल्वो बसों में किराया पहले की तरह ही वसूला जा रहा है और ऐसे में यात्री निजी बसों में जा सकते हैं जिससे निगम को नुक्सान भी हो सकता है।

Photo:BCM Touring

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS