एएसआई प्रश्न पत्र की फोटो खींच कर बाहर से सही जवाब लाकर उक्त परीक्षार्थी को देता रहा, अन्य परीक्षार्थियों ने इसका विरोध किया तो इस पुलिस अधिकारी ने दरवाजे की चिटकनी लगा कर कमरा बंद कर दिया और विरोध कर रहे परीक्षार्थियों को भी नकल करने की छूट दी

शिमल- हिमाचल प्रदेश की शिमला पुलिस कांस्टेबल की लिखित परीक्षा में पुलिस अधिकारियों पर ही नकल में संलिप्तता संबंधित बड़ी धांधली के आरोप लगे हैं। शिकायतकर्त्ताओं ने परीक्षा केंद्र में तैनात एक एएसआई द्वारा कमरे की चिटकनी लगाकर एक परीक्षार्थी को नकल करवाने के आरोप लगाए हैं। इन परीक्षार्थियों ने एसपी शिमला को इससे संबंधित शिकायत की है।

सोमवार को परीक्षार्थियों मनीष, महेंद्रू, अजय, गौरव, अमित, नितेश, विशाल और राहुल ने एसपी शिमला डी डब्ल्यू नेगी से मुलाकात की तथा एपीजी परीक्षा केंद्र में तैनात एएसआई द्वारा कमरे की चिटकनी लगाकर एक परीक्षार्थी को जमकर नकल करवाने का आरोप लगाया है, साथ ही मौके पर मौजूद थ्री स्टार अधिकारी को शिकायत के बावजूद आरोपी एएसआई और नकलची परीक्षार्थी के खिलाफ कोई कार्रवाई न करने की भी शिकायत की है।

शिकायतकर्त्ता परीक्षार्थियों ने एसपी शिमला को बताया कि उनका परीक्षा केंद्र एपीजी यूनिवर्सिटी के ब्लाक नंबर-6 के कमरा नंबर 6403 में था। इस दौरान एएसआई रैंक के पुलिस अधिकारी की उनके कमरे में चैकिंग की ड्यूटी थी लेकिन यह पुलिस अधिकारी एक परीक्षार्थी को नकल करने में मदद करता रहा। जहां परीक्षा केंद्र पर मोबाइल ले जाने की इजाजत नहीं थी वहीं उक्त एएसआई प्रश्न पत्र की फोटो खींच कर बाहर से सही जवाब लाकर उक्त परीक्षार्थी को देता रहा।

जब अन्य परीक्षार्थियों ने इसका विरोध किया तो इस पुलिस अधिकारी ने दरवाजे की चिटकनी लगा कर कमरा बंद कर दिया और विरोध कर रहे परीक्षार्थियों को भी नकल करने की छूट दी, साथ ही विरोध कर रहे अन्य परीक्षार्थियों को बताया कि उक्त युवक ने 8 लाख रुपए दिए हैं, साथ ही एक राजनीतिक पार्टी से भी उसकी एफिलेशन का डर बताया गया।

इतना ही नहीं, इस स्थिति को देखकर उक्त शिकायतकर्त्ता परीक्षार्थियों में से एक ने जब कमरे में चैकिंग के लिए आए एक थ्री स्टार पुलिस अधिकारी को इसकी शिकायत की तो उसने भी नकल करने वाले परीक्षार्थी और एएसआई के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने यही कहा कि वह इस मामले में कुछ नहीं कर सकते, इस बाबत युवक एसपी शिमला को शिकायत कर सकते हैं।

Photo: Daily Capital/ Representational Image

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS