शिमला आयुक्त जनता को बताए मलेशिया दौरे से शहर मे क्या बदलाव लाने वाले है : कॉंग्रेस

0
737
MC Shimla Commissinor

शिमला- जिला कॉंग्रेस कमेटी शिमला शहरी इकाई के महासचिव व उपप्रधान ने मलेशिया दौरे से वापस आए आयुक्त महोदय का स्वागत किया है और पूछा है कि आयुक्त महोदय शिमला की जनता को बताए की विदेश के दौरे से वह शिमला मे क्या बदलाव लाने वाले है?

आयुक्त जो विदेशी दौरे से सीख कर आए है उसे सार्वजनिक करे ताकि जनता भी जान सके कि हमारा निगम शहर कि जनता के लिए क्या योजनाए बना रहा है। कॉंग्रेस ने कहा कि आयुक्त सार्वजनिक करे की विदेश दौरो मे जो ट्रेनिंग लेकर वह आए है शिमला की जनता की समस्याओ को सुलझाने मे उन्हे किस तरह अमल मे लाया जाएगा ?

कॉंग्रेस का यह भी कहना है कि ये बड़ी हैरानी का विषय है की आयुक्त महोदय विदेश से वापस भी आ गए जबकि महापौर अभी उसी स्टडि टूर पर है। कॉंग्रेस ने बताया कि करीब छ: माह पूर्व भी इसी तरह का विदेशी दौरा आयुक्त द्वारा किया गया था जिस पर मीडिया मे यह सफाई दी गई थी कि आयुक्त महोदय वहाँ से पानी कि लीकेज को जाँचने कि कोई नई तकनीक देख कर आए है जिस यंत्र द्वारा पानी कि लीकेज का तुरंत पता करके पानी कि बरबादी को रोका जा सकता है, परंतु आज तक न तो व यंत्र निगम मे दिखाई दिये न ही ऐसी कोई तकनीक का ज़िकर दुबारा किया गया है।

कॉंग्रेस ने आरोप लगाया कि निगम मे स्टडी टूर के नाम पर इस तरह के विदेशी दौरो को बनया जा रहा है जिसका कोई भी ओचित्य नहीं है , जिसका जनता कोई लाभ नहीं होने वाला अपितु जनता कि जेब से ऐश परस्ती कि जा रही है। कॉंग्रेस ने आरोप लगते हुए कहा की हवाई किले और हवाई यात्राए ही सीपीआईए(म) के महापौर व उपमहापौर कि पहचान बन गए है।

कॉंग्रेस ने कहा कि पिछले 4 वर्षो मे निगम के महापौर व उप-महापौर द्वारा तकरीबन 9 विदेशी दौरे किए जा चुके है। निगम मे विकास के नायाब तरीको को सीखने के नाम पर सेर सपाटा ज़ोर पर है।

कॉंग्रेस का यह भी कहना है कि अपने पूरे कार्यकाल मे महापौर व उपमहापौर द्वारा मीडिया मे केवल चिकनी चुपड़ी बाते ही की गई है व शहर की समस्याओ को दरकिनार करते हुए केवल अपने मन मर्जी के पिकनिक स्पॉट पर यात्राए की जाती रही है, मलेशिया के दौरे के बाद महापौर चीन व हॉलैंड की यात्रा पर जाने को तेयार बेठे है जनता की पानी की समस्या को सुलझाने के स्थान पर पिकीन सपाट का चयन जोरों पर है।

कॉंग्रेस का कहना है कि कि वे हिमाचल प्रदेश सरकार से ये आग्रह करना चाहती है कि निगम के देश विदेश के दौरो पर लगाम लगाई जाए तथा निगम के यदि कोई स्टडि टूर बनाए जाते है तो उसपर किसी टेक्निकल स्टाफ का होना अनिवार्य किया जाए महज घूमने फिरने को देश विदेश कि यात्रों पर पूर्णता प्र्तिबंध लगाया जाए। निगम के सभी कर्मचारियों कि ज़िमेवारी सुनिश्चित कि जाये तथा अनावश्यक दौरो को तुरंत निरस्त किया जाए।

Photo: TNS

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS