संजौली-आईजीएमसी मार्ग के बाद बालूगंज-कनेडी हाऊस प्रतिबंधित मार्ग को भी आम जनता के लिए खोलने की मांग

0
220
google-shimla

शिमला- शिमला पैडेस्ट्रियन यूजर एक्ट -2007 में संशोधन कर संजौली-आईजीएमसी प्रतिबंधित मार्ग सड़क को साधारण सड़क बनाने का विकास समिति टुटू ने स्वागत किया! समिति अध्यक्ष,महासचिव,प्रैस सचिव,संगठन सचिव,कोषाध्यक्ष,सदस्य व अन्य पदाधिकारियों ने सरकार के इस फैसले को जनहित में लिया गया सही फैसला बताया है!

समिति अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि जनहित में राज्य हास्पिटल के साथ लगती इस सड़क को आमजन के लिए खोला जाना बहुत ही जरूरी था जिसकी हमारी समिति भी लंबे सामी से मांग कर रही थी और कई मर्तवा प्रदेश के मुख्यमंत्री से इस बारे व्यक्तिगत रूप से चर्चा के दौरान मांग भी की गई थी!

समिति का ये भी कहना है कि जहां एक ओर आम मरीजों को और उनके सेवकों को जल्दी अस्पताल पहुँचने में इसका लाभ होगा वहीं कार्ट रोड पर शिमला की बढ़ती ट्रैफिक में भी कमी आने से लोगों को निजात मिलेगी!

समिति का कहना है कि उन्होंने प्रदेश सरकार के मुखिया से मांग की है की एक छोर का संजौली-आईजीएमसी प्रतिबंधित मार्ग तो साधारण श्रेणी में कर दिया गया है वहीं शिमला पैडेस्ट्रियन यूजर एक्ट -2007 संशोधन कर दूसरी छोर बालूगंज-कनेडी हाऊस मार्ग को भी प्रतिबंधित मार्ग की श्रेणी से बाहर किया जाये क्योंकि इस मार्ग पर भी अधिकतर प्रतिष्ठित एवं टूरिष्ट स्थल एडवांस स्टडी,म्यूजियम,विनगेट,हर्षा,सिसिल व पीटरहाफ जैसे होटल कोटशेरा महाविधालय, विश्वविधालय ,बीबीए,बीसीए कालेज व आईटीआई जैसे शिक्षा संस्थान व बहुत पुराना व मशहूर सैनीटोरियम हास्पिटल हैं! इस जगह में शिमला के चारों इलाकों से पर्यटक,मरीज व शादी ब्याह के लिए रोजाना आमजन,छात्र -छात्राएं आते जाते हैं!

समिति का यह भी कहना है कि लोगो को वाया समरहिल 10 किलोमीटर की अधिक दूरी तय करनी पड़ती है और जिस कारण मुख्य 103 -बालूगंज, समरहिल मार्ग पर भी ट्रैफिक का दवाब दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है! समिति अध्यक्ष का कहना है कि पूर्व धूमल सरकार में भी बालूगंज-कनेडी हाऊस प्रतिबंधित मार्ग को खोलने के लिए इलाके बालूगंज-टुटू क्षेत्र की जनता ने एक ज्ञापन सौंपा था लेकिन प्रशासन ने उसे कहीं ठंडे बस्ते में डाल दिया!

Image:Google Maps

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS