शिमला में लगातार बढ़ रहा मौत का आंकड़ा, सरकार कर रही पीलिया पर पूरी तरह नियंत्रण के दावे

0
245

शिमला- पीलिया के मरीजों का सरकारी आंकड़ा बेशक कम हो रहा हो,लेकिन पीलिया से मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा हे। शिमला में फैले पीलिया का शिकार होने से पिछले दो दिनों में हाई कोर्ट के दो वकीलों की मौत हो गई है। महिला वकील ने दो दिन पहले आईजीएसी के आईसीयू में दम तोड़ दिया था जबकि हाई कोर्ट के ही एक और वकील राकेश चंदेल की पीजीआई में मौत हो गई हैं।

राकेश मूलत बिलासपुर के रहने वाले थे और छोटा शिमला में रहते थे। बार एसोसिएशन के सदस्यों ने वकीलों की मौत पर दुख व्यक्त किया है और पीलिया पर नियंत्रण को लेकर संबंधित विभागों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। शिमला में फैले पीलिया के शिकार हुए मरीज की पीजीआई में यह तीसरी मौत है।

इसे पहले बिलासपुर की ही एक महिला और शिमला के एक भाजपा नेता की मौत पीजीआई में हो चुकी है। इसके अलावा दो लोगों की मौत आईजीएमसी में मौत हो चुकी है। बहरहाल ऐसे में जब सरकार पीलिया पर पूरी तरह नियंत्रण पाने के दावे कर रही है,उसके बीच एक और मौत ने सरकार के दावों की पोल खोल दी है। वहीं पीलिया के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग का दावा था कि 15 फरवरी के बाद पीलिया का इनक्यूबेशन पीरियड समाप्त हो जाएगा, लेकिन अभी भी पीलिया के मामले लगातार सामने आ रहे हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS