पंचायत चुनाव के इतिहास में पहली बार 12 ,000 से अधिक मतदाताओं ने किया चुनाव का बहिष्कार

0
197
HP Panchayat Elections boycott

शिमला- सत्ता के प्रतिनिधि या कोई सरकार अपनी जिद्द से जनता पर कुछ भी थोप नहीं सकती हैं, इसके दो साक्षात प्रमाण मंडी जिला के 12 हजार से अधिक मतदाताओं ने चुनाव का बहिष्कार करके दे दिए हैं। पंचायती राज चुनाव के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ। नाराज मतदाताओं ने फिर नगर निकायों के लिए भी मतदान नहीं किया। सत्ता की इसी जिद्द के खिलाफ मंडी जिला की नई बनी व अधर में लटकी नेरचौक नगर परिषद के 10799 मतदाताओं और करसोग नगर पंचायत के तीन वार्डों के 1171 मतदाताओं ने वोट के अधिकार को ही छोड़ दिया।

उल्लेखनीय है कि आबकारी मंत्री प्रकाश चौधरी ने नेरचौक को नगर परिषद का दर्जा तो दिला दिया, लेकिन पहले दिन से इसका विरोध चल रहा है। नतीजा यह निकला कि डडौर, नेर, मलथेहड़, कसारला, भंगरोटू, नागचला पंचायतों के एक भी मतदाता ने इस बार वोट नहीं डाले। नौ वार्डों में किसी ने नामांकन नहीं किया और एक वार्ड स्योहली में दो प्रत्याशी होने के बाद भी वोट डालने कोई नहीं आया। इसी तरह से नगर पंचायत करसोग के वार्ड ममेल, बरल वार्ड और न्यारा वार्ड किसी ने नामांकन ही नहीं भरा था और यहां भी जनता वोट के अधिकार से वंचित हो गई। बहरहाल 12000 मतदाता मतदान से वंचित रह गए।

नप में मिलाने का विरोध

नगर परिषद नेरचौक की छह पंचायतों को उनकी इच्छा के विरुद्ध नगर परिषद में नहीं मिलाया जाता तो शायद दस हजार से अधिक मतदाता वोट के अधिकार का प्रयोग करते। सत्ता से लड़ाई के चलते जनता ने लोकतांत्रिक अधिकार ही छोड़ दिया।

स्योहली में मतदान ही नहीं

नेरचौक नगर परिषद के एक वार्ड स्योहली पर दो प्रत्याशियों में से एक चुना जाना था, ताकि 100 से अधिक पुलिस कर्मियों का पहरा होने के बाद भी एक भी मतदाता वोट डालने के लिए नहीं आया। पूरा दिन मतदान केंद्र पर ईवीएम लेकर पार्टी बैठी रही, लेकिन कोई नहीं पहुंचा।

कांग्रेस ने गंवा दी तीन सीटें

इस सारे मामले में मंडी से आबकारी मंत्री प्रकाश चौधरी की राजनीतिक पकड़ भी बल्ह में ढीली हुई है। बल्ह में इस कारण कांग्रेस को जिला परिषद की तीनों सीटें गवानी पड़ी तो बीडीसी में भी कांग्रेस का प्रदर्शन खराब है। जनता में इस मुद्दे को लेकर अब रोष और बढ़ता जा रहा है। जिसका खामियाजा आने वाले समय में कांग्रेस को फिर भुगतना पडे़गा। उपायुक्त मंडी ने स्योहली वार्ड में एक भी मतदाता द्वारा वोट न डालने की पुष्टि की है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS