शिमला- पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष प्रो0 प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में हिमाचल प्रदेश में रेलवे के विस्तारीकरण की योजनाओं को लेकर एक प्रतिनिधिमण्डल केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मिला।

रेल मंत्री सुरेश प्रभु के साथ हुई इस बातचीत में भाजपा नेताओं ने भानुपल्ली-बिलासपुर-मण्डी-कुल्लू-लेह रेलवे लाईन, ऊना-तलवाड़ा, पठानकोट-जोगिन्द्रनगर-मण्डी, चण्डीगढ़-बद्दी व ऊना-हमीरपुर रेलवे लाईन के विस्तारीकरण एवं निर्माण को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा की और प्रदेश के परिपेक्ष्य में इन रेलवे लाईनों के निर्माण के महत्व से रेल मंत्री को अवगत करवाया। भाजपा नेताओं से मुलाकात के दौरान केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया कि इन सभी उपरोक्त परियोजनाओं पर गंभीरता से कार्य हो रहा है। सर्वे के लिए आबंटित राशि को पूर्णतः उपयोग में लाया गया है। परन्तु प्रदेश सरकार से जो अपेक्षित सहयोग मिलना चाहिए था वह नहीं मिलने के कारण इन परियोजनाओं के निर्माण में देरी हो रही है।

इस मुलाकात के दौरान केन्द्रीय रेल मंत्री ने कहा कि सबसे प्रमुख समस्या भूमि अधिग्रहण की है और यह कार्य प्रदेश सरकार के लगातार सहयोग के कारण ही सम्भव हो सकता है, परन्तु प्रदेश सरकार पूरे मन से सहयोग नहीं कर रही है जिसके चलते कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। परन्तु इसके बावजूद केन्द्र सरकार हिमाचल प्रदेश में रेलवे के विस्तारीकरण के प्रति अत्यधिक गंभीर है और समस्त परियोजनाओं को धरातल पर उतारा जाएगा।

धूमल ने मुलाकात के दौरान हुई चर्चा पर संतोष और प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में रेलवे के विस्तारीकरण की चिरप्रतिक्षित मांग को लेकर केन्द्र सरकार पूरी तरह से गंभीर है और निकट भविष्य में इसके परिणाम देखने को मिलेंगे। इन रेलवे लाईनों के निर्माण से जहां हिमाचल में आधारभूत ढांचे के विकास को बल मिलेगा वहीं किसान, बागवान, पर्यटन को बढ़ावा मिलने से लोग आर्थिक सम्पन्नता की ओर बढ़ेंगे और प्रदेश से बेरोजगारी पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी। उन्होनें केन्द्रीय रेल मंत्री को रेलवे लाईनों के निर्माण के प्रति गंभीरता दर्शाने के लिए धन्यवाद व्यक्त किया और प्रदेश सरकार से कहा कि वह भी आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति को छोड़कर केन्द्र से सहयोग करें और भूमि अधिग्रहण सहित किसी भी तरह की कठिनाई को हल करने के लिए पूरे प्रयत्न करें जिससे राजनीति से उपर उठकर प्रदेश के विकास को बल मिलेगा और अंततः फायदा हिमाचल प्रदेश और हिमाचल प्रदेश के लोगों का होगा।

केन्द्रीय रेल मंत्री के साथ हुई इस मुलाकात के दौरान सभी लोक सभा सांसद उपस्थित रहे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS