शिमला- आज शिमला में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सैंकडों कार्यकर्ताओं ने लिफ्ट के समीप कार्ट रोड पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विरोध-प्रर्दशन किया और नारेवाजी करते हुए प्रधानमंत्री का पुतला फुंका। इस दौरान कांग्रेस कार्यकताओं ने जमकर कर प्रधानमंत्री के किलाफ नारेबाजी की और कार्ट रोड़ से माल रोड की तरफ जाने लेगे तथा तथा कार्ट रोड़ पर जाम लगा दिया। कांग्रेस ने कहा की ये फैसला जल्बाजी में बिना किसी तैयारी के साथ आम जनता पर थोपे दिया गया जिसकी वजह से साडी अर्थवव्स्ता चरमरा गयी है और आम आदमी को मुसीबतों का सामना करना पद रहा है!

पुलिस ने कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन करने से रोकते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ठाकुर सुखविन्दर सिंह सुक्खू समेत सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया।

इसी तरह आज कांग्रेस के आवह्न पर पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर विरोध-प्रदर्शन कर प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का पुतला फुंका तथा नोट बन्दी से आम नागरिको को हो रही असुविधा के मद्देनजर केन्द्र सरकार के खिलाफ उपायुक्त के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन सौंपा।

sukhvinder-singh-sukhu-himachal-congress

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ठाकुर सुखविन्दर सिंह सुक्खू ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि 8 नवम्बर 2016 को आधी रात से प्रधानमंत्री द्वारा देश में नोटबन्दी का फैसला बहुत ही जल्दवाजी और बिना तैयारी के लिया गया है। उन्होंनें कहा कि कालेधन का उपयोग रोकने की मंशा से लिये गये नोट बन्दी के इस फैसले का हम समर्थन करते है, परन्तु इस फैसले देश के आम नागरिकों को हो रही असुविधा का हम पुरजोर विरोध करते हैं। उन्होंनें कहा कि शुरूआत में इस फैसले से जहां लोगों में उत्साह था वहीं समय गुजरने के साथ बैगर कोई तैयारी के व जल्दवाजी में लिये गये नोटबन्दी जैसे अपरिपक्व फैसले से आम नागरिकों को अपने खून-पसीने की कमाई को बैंको के सामने कई दिनों तक भूखे-प्यासे कतार में खडे होने के बाद भी अपनी जरूरत का पैसा नसीब नही हो पा रहा है।

न ही पर्याप्त नोटो की छपाई की गई न ही बैंकों तक नये नोट पंहुचाये

उन्होंनें कहा कि इसे फैसले को लेकर केन्द्र सरकार की बत-इन्तजांमी साफ देखने को मिल रही है फैसला लेने से पहले सरकार ने कोई भी तैयारी नही की गई न ही पर्याप्त नोटो की छपाई की गई न ही बैंकों तक नये नोट पंहुचाये और न ही एटीएम को दुरूस्त किया गया बस बिना सोचे-समझें अधुरी तैयारी के ही नोटबन्दी का फैसला देश पर थोपा गया। उन्होंनें कहा कि मोदी सरकार की इस बत-इन्तजांमी का खामयाजा आम नागरिको को मानसिक एवं शारीरिक पीडा से गुजरना पड रहा है और 50 अधिक लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पडा है। वहीं हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि देश के वित मंत्री ने ये माना है कि नोट छपाई का कार्य पिछले 6 महिनो से चल रहा था तो ये बडे अचम्भे की बात है कि एक माह पहले बनाये गये भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर अर्जित पटेल के हस्ताक्षर वाले नये नोट कहां से आये।

5% लोगों को निशाना बनाने के लिए बाकी 95 % आम जनता को डाला परेशानी में

himachal-congress

सुक्खू ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने नोटबन्दी के फैसले से मात्र 5 फीदसी लोगों को निशाना बनाने के लिए बाकी 95 प्रतिशत आम जनता को परेशानी में डाल दिया है। उन्होंनें कहा कि इस फैसले से देश का कोई भी ऐसा वर्ग नही है जिसे नुकसान न पंहुचा हो या परेशानी न हुई हो जैसे छोट व्यापारी, मजदूर, दिहाडीदार, किसान, बागवान व आम जनता इससे प्रभावित हुई है। इससे देश की अर्थव्वयस्था प्रभावित हुई है और व्यपार ठप पडा है तथा लोगों पैसो की कमी के कारण अपने बच्चों की शादियां तक नही कर पा रहे हैं और आम जनता अपनी मुलभूत जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने ही खून-पसीने की कमाई को निकालने के लिए अपना सारा काम छोड बैंकों के बाहर कतार में खडा है बावजूद इसके लोगों को कई दिन और कई घण्टे लाईन में लग कर बैंकों से पैसा नही मिल पा रहा है और पूरे देश में आर्थिक आपातकाल की स्थिती बनी हुई है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नही दे पा रहे संसद में जवाब

उन्होंनें कहा कि आज फैसले से 16 दिन बीत जाने के बाद भी स्थिती में कोई सुधार नही आया है और आज भी बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की लम्बी-लम्बी कतारे। उन्होंनें कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भाषणों में तो खुब बालते है परन्तु संसद में इसका जवाब नही दे रहें हैं। उन्होंनें कहा कि प्रधानमंत्री को संसद में आकर इसका जवाब देना चाहिए और इस फैसले से देश के आम नागरिकों को जो सुविधा हो रही है उसकी जिम्मेवारी लेते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व वित मंत्री अरूण जेतली को देश से माफी मांगनी चाहिए।

himachal-congress-demonetisation-protest

आने वाले समय देश की अर्थव्यवस्था को लेगेगा बहुत बडा झटका

सुक्खू कहा कि सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए रोज प्रेस के माध्यम से नोटबन्दी के निर्णय में अपने फैसले बदल रही है, और जो नई दरे देने के फैसले सरकार ले रही है हकीकत में उसका फायदा आम जनता को नही मिल रहा है। उन्होंनें कहा कि सरकार अपने इस फैसले को सही तरिके से लागू करने में विफल रही है और आने वाले समय में नोटबन्दी के इस फैसले से देश की अर्थव्यवस्था को बहुत बडा झटका लेगेगा।

धरने में सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे। जिसमें प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव हरभजन सिंह भज्जी, कोषाध्यक्ष एवं पार्षद सुरेन्द्र चैहान, मीडिया विभाग के चैयरमैन नरेश चैहान सहित सहित सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS