डलहौजी और दिल्ली के बीच जल्द चलेगी लक्ज़री बस, इलेक्ट्रिक बसें खरीदने के लिए टेंडर प्रक्रिया भी शुरू: परिवहन मंत्री

0
299
dalhausi-delhi luxury bus service

चम्बा- डलहौजी और दिल्ली के बीच जल्द लक्ज़री बस सेवा शुरू होगी। इस बस सेवा के शुरू होने से विशेषकर पर्यटकों को आरामदायक बस सेवा की सुविधा मिलेगी । मंत्री जीएस बाली ने यह बात आज परिधि गृह डलहौजी में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए दी।

यह बस सेवा डलहोजी से शाम 5:15 बजे चलेगी और अगले दिन सुबह 6 बजे बस दिल्ली पहुंचेगी। दिल्ली से डलहौजी के लिए बस का वापसी समय शाम 3 और 4 बजे के बीच रहेगा और अगले दिन सुबह 5:15 बजे बस डलहौजी पहुंचेगी। परिवहन मंत्री ने कहा कि इस बस सेवा को 31 दिसंबर से पहले शुरू कर दिया जाएगा ।परिवहन मंत्री ने कहा की कनेक्टिविटी योजना के तहत डलहौजी और चंबा से चंडीगढ़ के लिए वातानुकूलित छोटी बसें भी चलाई जाएंगी।

परिवहन मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि निगम द्वारा 25 इलेक्ट्रिक बसें खरीदने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में डलहौजी और धर्मशाला में भी इलेक्ट्रिक बसें चलाए जाने पर विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में निगम के बेड़े में करीब 3200 बसें हो चुकी हैं। इसके अलावा 400 नई बसें भी इसी साल निगम के बेड़े में शामिल होंगी। यह बसें जैसे ही निगम को मिलेंगी चंबा क्षेत्र को भी जरुरत के मुताबिक बसे उपलब्ध करवाई जाएगी।

परिवहन मंत्री ने निगम प्रबंधन को निर्देश देते हुए कहा कि देहरादून और पठानकोट के बीच चल रही बस सेवा को डलहौजी तक बढ़ाने की संभावनाओं पर विचार किया जाए। डलहौजी बस स्टैंड के मुद्दे पर परिवहन मंत्री ने प्रशासन को निर्देश दिए कि बस स्टैंड के निर्माण के लिए डलहौजी में उपयुक्त भूमि जल्द चिन्हित की जाए ताकि पर्यटन नगरी डलहोजी में बस स्टैंड का निर्माण किया जा सके।

परिवहन मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान लोगों के कल्याण के लिए कई ऐतिहासिक फैसले दिए हैं। उन्होंने बताया कि अब प्रत्येक परिवार को उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से तीन दालें उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि तकनीकी कारणों से सरसों के तेल की आपूर्ति नहीं हो पाई थी लेकिन अब पिछले पेन्डिंग कोटे के साथ उपभोक्ताओं को तेल की आपूर्ति होती रहेगी।

उन्होंने कॉलेज तक जाने वाली सड़क में सुधार के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हिमुडा के अधिकारियों को कॉलेज भवन के निर्माण में गति लाने के निर्देश दे दिए हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS