रजिस्ट्रेशन बिना डिजिटल केबल चलाने अब होगी जुर्माने सहित कैद की सजा

0
331

चंबा- केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हाल ही में एक आदेश जारी करते हुए यह साफ किया है कि डिजिटल केबल नेटवर्क चलाने के लिए मल्टी सिस्टम आपरेटर के तौर पर रजिस्ट्रेशन आवश्यक होगी।

रजिस्ट्रेशन के बिना नेटवर्क चलाने वालों के खिलाफ केबल टेलीविजन नेटवर्क रेगुलेशन एक्ट के प्रावधानों के मुताबिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस आदेश की पुष्टि करते हुए जिला लोक संपर्क अधिकारी एवं सदस्य सचिव जिला स्तरीय केबल टेलीविजन निगरानी समिति रवि वर्मा ने बताया कि चंबा जिला के भी कुछ ऐसे केबल ऑपरेटर हैं जिन्होंने मल्टी सिस्टम ऑपरेटर के तौर पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में अपनी रजिस्ट्रेशन नहीं करवाई है।

रजिस्ट्रेशन न करवाने वाले ऐसे केबल ऑपरेटरों की सूची मंत्रालय द्वारा उपलब्ध करवाई गई है।सूची के मुताबिक चंबा के अलावा जिला के ककीरा ,चुवाड़ी समोट, किलाड ,भरमौर और तीसा स्थित केबल ऑपरेटर शामिल हैं ।रवि वर्मा ने बताया कि केबल डिजिटाइजेशन के फेज़ -4 की डेडलाइन 31 दिसंबर 2016 है। इस अवधि से पूर्व जिले के अन्य बाकी क्षेत्रों में भी डिजिटाइजेशन का काम पूरा करना होगा ।

उन्होंने कहा कि बिना पंजीकरण केवल नेटवर्क चलाने के अलावा एक्ट के अन्य प्रावधानों की उल्लंघना करने पर एक्ट में मल्टी सिस्टम आपरेटर और केबल ऑपरेटर के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है।

रवि वर्मा ने कहा कि इसमें सजा के साथ-साथ जुर्माने का भी प्रावधान किया गया है। मल्टी सिस्टम ऑपरेटर को केबल उपभोक्ताओं की शिकायतों के निपटारे के लिए एक शिकायत कक्ष की स्थापना करना भी आवश्यक है। जिसमें एक टॉल फ्री नंबर भी होगा। डिजिटल सिस्टम के चलते अब समूचे जिले में 31 दिसम्बर के बाद एनालॉग मोड में कोई भी केबल नेटवर्क नहीं चलेगा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS