शिमला- हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय छात्र संगठन (एसएफआई) ने कहा कि आज पुरे प्रदेश में छात्रों का भविष्य व उनके अभिभावकों के सपने दाव पर लगे हुए है! रूसा जैसे व्यस्था से पिछले 3 साल में 35 हज़ार से जयादा छात्र दर-दर की ठोकरे खाने पर मजबूर हुए हैं!

छात्र संगठन ने कहा कि 10 गुना फीस वृद्धि कर छात्रों से पढ़ने का अधिकार तक छीना गया है पुरे प्रदेश भर में सिर्फ 1991 से लेकर 2016 तक सिर्फ नवउदारवाद की नीतियों को ही अपनाया गया है जिस वजह से प्रदेश में सिर्फ निजी शिक्षा को बढ़ावा दिया जा रहा है! सरकार व वि0वि0 प्रशाशन अनेक बहाने बना कर अपने आप को बचाने की कोशिश कर रहा है पर सच तो यह है कि ये सारे काम सोच समझकर माफिया को फायदा पहुँचाने का काम किया जा रहा है!

छात्र संगठन ने कहा कि छात्रों की 10 मांगो को ले कर उन्होंने निर्णय लिया है कि आने वाले समय में आंदोलन को उग्र करेंगे.

छात्रों ने उठाई यह मांगे

1.)रूसा में यूजीसी की 19 शर्तें पूरी तरह लागू की जाये,

10 गुना फीस वृद्धि वापस लो,

अधयापकों के सभी रिक्ति पद जल्द भरे जाये,

सभी छात्रों की दाखिला दिया जाये,

हॉस्टल, बिजली,पानी, कालेज बसें, पुस्तकालय, शौचालय आदि मूलभूत सुविधाएं जल्द दी जाये!

महाविद्यालय में बैंक का फीस काउंटर खोला जाये,

नए खोले गए महाविद्यालयों को अपने भवन व अधयापक दिए जाये,

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति को शीघ्र एचपीयू से बाहर किया जाये,

रूसा का परीक्षा परिणाम 10 दिन में घोषित किया जाये व छात्र संघ चुनाव बहाल किये जाये और छात्रों को इसी वर्ष अपने प्रतिनिधि चुनने का हक़ दिया दिया जाये!

छात्रों ने कहा उन्होंने तय कर लिया है की वि0वि0 में छात्र आंदोलन के समर्थन में 2 जुलाई से 48 घंटे की भूख हड़ताल के समर्थन में कोटशेरा, संजौली, आरकेएमवी, ठियोग, सीमा, सावड़ा, रामपुर इत्यादि , सहित पुरे प्रदेश के 30 महाविद्वालय के छात्र भाग लेंगे व वीसी हटाओ वि0वि0 बचाओ (Save HPU Save Education) के आंदोलन को आगे बढ़ाएंगे!

छात्रों ने बताया कि उन्होंने निर्णय लिया है कि सरकार व प्रशासन छात्रों की मांगो को लगातार अनदेखा कर रही है जिसकी वजह से छात्र आंदोलन को उग्र करते हुए ! एक जुलाई को सभी छात्रों को प्रवेश दिलाने के लिए प्रधानाचार्य का घेराव का धरना प्रदर्शन किया जाएगे! 2 जुलाई को प्रदेश विश्वविद्यालय में 3 छात्र 48 घंटे की हड़ताल में जाएंगे!

छात्र आंदोलन की रुपरेखा

3 से 8 जुलाई तक हस्ताक्षर अभियान होगा,

9 जुलाई को धरना व ज्ञापन सौंपा जायेगा,

11 जुलाई को सदस्यता अभियान होगा,

14 जुलाई को 3 घंटे का धरना दिया जाएगा,

15 से 18 जुलाई तक जेल भरो आंदोलन किया जयेगा,

19जुलाई को बाजार में रैलियां की जाएँगी,

19 से 23 जुलाई तक हर चौराहे पर सभाएं की जाएगी,

25 जुलाई को प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जायेगा,

26 से 30 जीते हुए प्रतिनिधियों का घेराव किया जाएगा,

1 अगस्त से 5 अगस्त तक जगह जगह पर चक्के जाम किये जाएंगे और 6 अगस्त को प्रदेश भर में काला दिन मनाया जाएगा!

छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर 7 अगस्त तक छात्रों की सभी मांगे न मानी गई तो पूरे महाविद्यालयों में भूख हड़ताल शुरू होगी ! होगी ने चेताया कि वे अपनी जान की परवाह न कर आमरण अनशन पर बैठ जायेंगे !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS