हिमाचल के ऐतिहासिक आईआईएएस लाइब्रेरी की 100 साल पुरानी 500 किताबें ऑनलाइन

0
348

शिमला- हिमाचल में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी ( Indian Institute of Advance Study) की लाइब्रेरी में सौ साल पुरानी किताबों को पाठक अब ऑनलाइन पढ़ सकेंगे। दरअसल शिमला के चौड़ा मैदान स्थित ऐतिहासिक इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी (आईआईएएस) की लाइब्रेरी में सौ साल पुरानी संस्थान की ओर से अब तक करीब 500 किताबें डिजिटलाइज की जा चुकी हैं। इसमें लगभग 50 किताबें एंटीक हैं। यह कार्य फरवरी 2016 से शुरू कर दिया गया है। सभी किताबों को डिजिटलाइज किया जाएगा। साल 1965 से शुरू हुए इस लाइब्रेरी में विभिन्न तरह की किताबों का संग्रह है।

लाइब्रेरी में करीब डेढ़ लाख किताबें

आज के समय में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी के पुस्तकालय में करीब डेढ़ लाख किताबें हैं। जिसमे करीब 50 हजार जर्नल और 10 इलेक्ट्रॉनिक जर्नल हैं।

किताबों के लिए मिलता है पर्याप्त बजट

लाइब्रेरियन प्रेम चंद ने कहा कि लाइब्रेरी में किताबों के लिए मिनिस्टरी ऑफ ह्यूमन एंड रिसोर्सिज डिपार्टमेंट की ओर से पर्याप्त बजट मिलता है। हर साल करीब 2 हजार नई किताबें उपलब्ध करवाई जाती हैं और इनके रखरखाव के लिए पर्याप्त स्टाफ भी है।

Photo: Cosmo Local

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS