शिमला विलो बैंक पानी घोटाला: घरेलू कनेक्शनों पे चल रहे होटल ने लगाया करोड़ों का चूना, निगम कर्मियों की मिलीभगत की आशंका

0
503
Hotel Willow Banks Shimla

घरेलू कनेक्शनों का किया गया व्यावसायिक इस्तेमाल,निगम ने होटल संचालक को भेजा नोटिस जांच के लिए बनाई कमेटी,रिपोर्ट के अाधार पर तय की जाएगी पैनल्टी

शिमला- शहर के नामी होटलों में शुमार विलो बैंक का पानी को लेकर बड़ा घोटाला सामने आया है। होटल संचालक ने नियमों को ताक पर रखकर वर्षों पहले मिले पुराने घरेलू कनेक्शनों के पानी को व्यावसायिक तौर पर इस्तेमाल करके नगर निगम को करोड़ों का चूना लगाया है। गड़बड़झाले के बारे में पता चलने पर नगर निगम ने होटल संचालक को नोटिस भेजा है और साथ ही असिस्टेंट कमिश्नर की अध्यक्षता में जांच भी बिठाई है।

असिस्टेंट कमिश्नर की अध्यक्षता में बनी कमेटी ने गड़बड़झाले की छानबीन शुरू कर दी है। जांच कमेटी को जल्द रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है। रिपोर्ट के आधार पर होटल विलो बैंक पर पैनल्टी तय की जाएगी। नगर निगम द्वारा होटल के लिए कॉमर्शियल कनेक्शन दिए जाते हैं। घरेलू कनेक्शनों का व्यावसायिक उपयोग करना नियमों के खिलाफ है।

दूसरी ओर नगर निगम ने होटल की रजिस्ट्रेशन कब से हुई है, इसकी रिपोर्ट टूरिज्म विभाग से मांगी है। यह रिपोर्ट इसलिए जरूरी है कि पता चल सके कि संचालक कब से घरेलू कनेक्शनों का व्यावसायिक इस्तेमाल कर रहा है।

कर्मियों की मिलीभगत होने की आशंका

जानकारी के मुताबिक होटल में कई साल से घरेलू कनेक्शन व्यावसायिक तौर पर पर इस्तेमाल किए जा रहे हैं, लेकिन इसके संबंध में निगम को अब पता चला। आखिर आज तक यह गलती निगम ने क्यों नहीं पकड़ी है, यह जांच का विषय है। यह भी कहा जा रहा है कि इसमें निगम के कर्मियों की मिलीभगत हो सकती है। वरना इस गड़बड़झाले का काफी पहले ही पता चल गया होता।

एरियर के लिए भेजा नोटिसः टिकेंद्र

डिप्टी मेयर टिकेंद्र पंवर ने कहा कि विलो बैंक होटल में पानी के पुराने घरेलू कनेक्शन लगे थे। इसी पानी से होटल का निर्माण से लेकर कई सालों तक होटल का काम चलाया गया।पानी का इस्तेमाल कॉमर्शियल होता रहा, हालांकि कनेक्शन घरेलू थे। इस मामले में लगभग 2.5 करोड़ रुपए के एरियर का नोटिस निगम की आेर से होटल को जारी कर दिया है। वहीं जांच भी शुरू कर दी गई है।

ऐसे चला गड़बड़झाले के बारे में पता

जानकारी के मुताबिक विलो बैंक में करीब आधा दर्जन घरेलू कनेक्शन लगे हुए हैं। अलग-अलग नाम से यह कनेक्शन जारी किए गए हैं।
विलो बैंक की ओर से कुछ कनेक्शनों की पेमेंट देने से इनकार किया गया, जिसके बाद इस मामले की निगम ने गंभीरता से पड़ताल की तो पता चला कि होटल में कॉमर्शियल कनेक्शन एक ही है और बाकी सब घरेलू हैं, जिनका व्यावसायिक उपयोग किया जा रहा है।

Photo: Himachal Watcher

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS