नंगी तारो के बीच वर्कशॉप मे ड्यूटी करने को मजबूर ऊना के एचआरटीसी कर्मचारी,कभी भी हो सकता है हादसा

0
307

ऊना- हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) वर्कशॉप ऊना में कर्मचारी मौत को दाव पर रखकर ड्यूटी करने के लिए मजबूर हैं, क्योंकि वर्कशॉप में बिजली आपूर्ति व्यवस्था खस्ताहाल हो चुकी है। लोहे की पाइपों में थ्री-फेस की तारों में बिजली आपूर्ति की गई है। बिजली आपूर्ति की सभी तारें खस्ताहाल हो चुकी है। जगह-जगह बिजली की तारें नंगी हो चुकी हैं, अगर निगम के कर्मचारियों का जरा सा भी ध्यान हटा और बिजली की नंगी तारों को हाथ लग जाता है। कर्मचारियों ने कहा कि हर समय बचाव के लिए नंगी तारों से दूरी रखनी पड़ती है। बड़ी-बड़ी मशीनों को चलाने के लिए ग्रीप बॉक्स से की गई बिजली आपूर्ति व्यवस्था खस्ताहाल हो चुकी है।

नंगी तारों में करंट आने का डर

कर्मचारियों ने कहां कि बारिश के दौरान वर्कशॉप की सभी इमारतें पानी से भीगी होती हैं और इसके हर जगह पर पानी पहुंचा होता है। इससे बिजली की नंगी तारों से पूरी वर्कशॉप में करंट आ सकता है। इस दौरान वर्कशॉप में कई कर्मचारी ड्यूटी देने के लिए मौजूद होते हैं।

सरकार की अनदेखी की कौन करेगा भरपाई

कर्मचारियों ने कहा कि अगर किसी कर्मचारी बिजली आपूर्ति की खस्ताहाल हो चुकी नंगी तारों की चपेट में आता है तो उसके परिवार व बच्चों का क्या होगा। सरकार की अनदेखी का शिकार हुए कर्मचारियों के परिवार व बच्चों की जिम्मेवारी प्रदेश सरकार लेगी। सरकार की लापरवाही के कारण एक-एक कर्मी के पीछे कई जिंदगियां दांव पर लगी हुई हैं।

पट्टिकाओं तक सरकारों के वादे

कर्मचारियों ने कहा कि वह कई सालों से ऊना वर्कशॉप की खस्ताहाल हालत का सुधारने के लिए न सरकार आगे आई है और न हिमाचल पथ परिवहन निगम के अधिकारी। जिस कारण कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी पूरी करने के लिए अपना जीवन दांव पर लगाना पड़ रहा है। सत्ता व सताहीन सरकार की ओर से वर्कशॉप में केवल अपने नाम की शिलान्यास पट्टिकाओं तक ही पैसा खर्च किया है।

नहीं आ रहा कोई बजट

हिमाचल पथ परिवहन निगम ऊना डिपो के आरएम विवेक लखनपाल ने कहा कि जब तक एचआरटीसी की नई वर्कशॉप रामपुर में नहीं बन जाती, तब तक ऊना वर्कशॉप पर कोई भी पैसा खर्च नहीं होगा। इसके साथ ही सरकार की ओर से मरम्मत कार्य के लिए कोई भी बजट नहीं आ रहा है।

Credit: Jagran

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS