हादसों को न्योता देता राज्य मार्ग-32 का यह भाग

0
427

राज्य मार्ग -32 नेरचौक – कलखर भाग पर एक भी कलवर्ट /पुली सुरक्षित नहीं

राज्य मार्ग संख्या -32 मार्ग के बल्ह घाटी का नेरचौक से कलखर तक का मार्ग बहुत ही तंग व जानलेवा है और लोक निर्माण विभाग के मंडी जोन के अधीन आने वाले इस मार्ग पर अनेकों स्पाट ऐसे हैं जो कभी भी जानलेवा साबित हो सकते हैं ! विकास समिति टुटू के अध्यक्ष नागेंद्र गुप्ता ने आवकारी व कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी के पिछले दिनो दिये गए उस ब्यान का स्वागत किया है कि बल्ह निर्वाचन क्षेत्र की सभी सड़कों को विशेषधन राशि खर्च कर जल्द दुरुस्त किया जाएगा !

between kalkhar-nerchowk (8)

समिति अध्यक्ष नागेंद्र गुप्ता ने कहा कि पिछले दिनो उन्हे रिवालसर जाने का मौका मिला तो पाया कि नेरचौक से कलखर का तकरीबन 18 किलोमीटर के मार्ग पर अनेकों कल्वर्ट ऐसे हैं जो कभी भी वाहन चालक को धोखे का कारण बन सकते हैं जहां न तो कोई पैरापिट/रेलिंग लगी है और न ही कोई छूने का पत्थर लगा हुआ है !

between kalkhar-nerchowk (6)

उन्होने कहा कि अनेकों बार वह रिवालसर नैना -देवी मंदिर को आते हैं और इस सड़क मार्ग से क्रास होते हैं तथा पिछले दो दशको से इस सड़क की हालत देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि इस सेक्शन में पूर्व में रहे अभियन्ताओं ने कभी सुरक्षा की दृष्टि से इस मार्ग पर कार्य ही नहीं किया है और वर्तमान अभियंता भी सुरक्षा की दृष्टि से इस मार्ग की सुध नहीं ले रहे हैं !

between kalkhar-nerchowk (3)

गुप्ता ने कहा कि यह सही है कि विकास एक निरंतर प्रकिया है और कुछ बाहरी तीखे मोड़ों पर कुछ भाग में रेलिंग का कार्य भी हुआ है परंतु आजतक एक भी कलवर्ट सुरक्षित नहीं की गई है जहां डंगे लगाकर सड़क को चौड़ा किया जाना अति आवश्यक है ! उन्होने कहा कि इस सड़क में ऐसी तंग पुलियाँ हैं जिन पर ट्रक-बस तो क्या कार चालक भी सुरक्षित नहीं है और कभी भी वाहन का टायर बाहर हो सकता है !

between kalkhar-nerchowk (1)

नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि इस 18 किलोमीटर मार्ग पर ऐसी कोई पुली/कलवर्ट देखने को नहीं मिलती है जो सुरक्षित हो ! समिति अध्यक्ष ने कहा की इस राज्य मार्ग पर सरकाघाट/रिवालसर की ओर आने -जाने वाली ट्रैफिक बहुत अधिक है और यदि इस मार्ग की जल्दी सुध न ली तो कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना इस मार्ग पर पुन: घटित हो सकती है !

between kalkhar-nerchowk (5)

कई मर्तवा इस मार्ग पर जानलेवा दुर्घटनाएँ भी घट चुकी हैं ! समिति अध्यक्ष ने जनहित में स्थानीय विधायक व आवकारी व कराधान मंत्री से इस ओर विशेष ध्यानाकर्षण करने की मांग की है तथा मुख्यमंत्री को विभाग के संबन्धित इंजीनीयरों को सख्त निर्देश देने की मांग की है !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS