कभी भी गिर सकते है 33 के.वी. लाईन के पोल

0
296
nh-without-parapet

nh-without-parapet

पी. डब्ल्यू .डी नेशनल हाईवे विंग की लापरवाही के कारण हुआ हादसा
जहाँ पैरापिटों की जरूरत है – वहां नहीं लगाए विभाग पैरापिट – उच्च स्तरीय जांच की मांग
यादगार (टूटू ) सड़क का पानी बहा ले गया 11 केवी लाईन के पोल
रात भर टूटू चौक किनारे की रही बिजली गुल
कभी भी गिर सकते है 33 के.वी. लाईन के पोल
नेशनल हाईवे विंग ने समय पर कदम न उठाया तो शिमला -कांगड़ा सड़क कभी भी बंद हो सकती है

missing-railings

​विकास ​समिति टूटू ने प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री से जनहित में मांग की है की टूटू में यादगार के पास शिमला -कांगड़ा सड़क पर तुरंत जलबहाव रोकने तथा सड़क किनारे डंगा लगाने के सख्त निर्देश दिए जाएँ ! समिति अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की यादगार सड़क किनारे 33 के.वी. तथा 11 केवी लाईन के खम्बे लगे हुए हैं जिनमे से 11 केवी लाईन के खम्बे सड़क का पानी ट्रांसफार्मर की ओर आने के कारण गिर गए और टूटू क्षेत्र का चौक से यादगार के भाग की बिजली कल शुक्रवार सांय से गुल हो गयी ! उन्होंने कहा की जानकारी लेने तथा मौके को देख कर पता चला है की प्रदेश राष्ट्रीय उच्च मार्ग से सड़क का पानी का तेज बहाव आने के कारण यह खम्बे गिर गए और जिस कारण जनहित हो अँधेरे में रात बितानी पडी और विद्युत विभाग को भी काफी नुकसान हुआ है !

land-slide-tutu

गुप्ता ने कहा की इस जगह पर शिमला -कांगड़ा सड़क के कुछ भाग में पानी के बहाव के कारण सड़क भी बैठ गई हैं और दरारें बढ़ गई हैं ! उन्होंने कहा की यदि प्रशासन ने समय रहते जल्द इस क्षेत्र की सुरक्षा नहीं की तो कभी भी 33 के.वी. लाईन के खंबे और ट्रांसफार्मर गिर सकते हैं जिस कारण कई दिनों तक टूटू व् आसपास क्षेत्र की बिजली गुल हो सकती है ! उन्होंने कहा की मौक़ा जांचने से ऐसा प्रतीत होता है की यदि नेशनल हाईवे विंग सोलन ने समय रहते इस सड़क के सड़क के भाग को ठीक नहीं किया तो कभी भी शिमला -कांगड़ा नेशनल हाईवे अवरुद्ध हो सकता है !

hppwd

उन्होंने कहा की नेशनल हाईवे सोलन डिवीजन के अधीन इस सड़क पर विभाग व् ठेकेदार ने पिछले दिनों चक्कर -घणाहट्टी के बीच अपनी सुविधानुसार सड़क किनारे के पैरापिट लगाएं हैं और जिन ब्लैक स्पाटों को प्राथमिकता पर सुरक्षित किया जाना चाहिए था वह अभी भी पिछले 10 वर्षों से नंगे पड़े हुए हैं ! उन्होंने मांग की है की ठेकेदार द्वारा या विभाग द्वारा ठेकेदार को लाभ देने के मकसद से चक्कर -घणाहट्टी सड़क किनारे कैई स्थानो पर पैरापिट लगाने का काम अधूरा छोड़ा गया है उसकी भी उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS