प्रदेश में दूसरी से आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों का बेस लाईन मूल्यांकन

0
246
shirgul-dehabalson

shirgul-dehabalson

“सर्वशिक्षा अभियान सलाहकार गु्रप की बैठक आज सचिव शिक्षा आर. डी. धीमान की अध्यक्षता में आयोजित की गई, जिसमें इस वर्ष मई. जून में किए गए बेस लाईन मूल्यांकन की समीक्षा की गई”

प्रदेश में दूसरी से आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों की प्रशिक्षण और सुधारात्मक शिक्षण बेस लाईन 27 से 29 मई तक किया गयाए जिस बारे बैठक में चर्चा की गई। यह सर्वशिक्षा अभियान के राज्य परियोजना विभाग द्वारा किया गया, इसमें राज्य भर के 508944 विद्यार्थियों के चार विषयों हिन्दी, अंग्रेजी ,ईवीएस तथा गणित को लिया गया था। मूल्यांकन स्कूल स्तर पर किया गया और परिणाम का विश्लेषण कलस्टर, खण्ड, जिला तथा राज्य स्तर पर किया गया। सीखने के स्तर में सुधार को दिसम्बर और मार्च में आयोजित किए बेस लाईन के माध्यम से मापा जाएगा। प्रशिक्षण और सुधारात्मक शिक्षण बेस लाईन के आधार पर होगा, जो नैदानिक अभ्यास से सीखने के अंतर को भी तय करेगा। इससे राज्य में शिक्षा में गुणवत्ता में सुधार आने की भी उम्मीद है। मुख्यमंत्री ने विधानसभा में शिक्षा की गुणवत्ता के गिरने पर चिंता व्यक्त की थी। परीक्षा शैक्षणिक सत्र आरम्भ होने पर आयोजित की गई थी और सीखने के स्तर में हुए सुधार को बेस लाईन द्वारा अगले सत्र में प्रदर्शित होगा।

एजूकेशन इनीशियेटिव (ईआई) और लर्निंग लिंक फाउंडेशन द्वारा तृतीय पक्ष से भी मूल्यांकन करवाया गयाए जो 14 जून, 2013 को तीसरी ए पांचवीं तथा सातवीं कक्षाओं के हिन्दी व गणित विषयों पर किया गया। परीक्षा के आयोजन से विद्यार्थियों के सीखने के स्तर में हुए सुधार को मापा गया।

परीक्षा हिमाचल प्रदेश राज्य एवं एलएलएफ द्वारा आयोजित की गई, जिसमें राज्य के 1, 784 स्कूलों के 28, 898 विद्यार्थी शामिल हुए। इस मूल्यांकन से राज्य में हिन्दी में औसत प्रदर्शन 48. 5 प्रतिशत से 59.5 प्रतिशत और गणित में 38.1 प्रतिशत से 59.7 प्रतिशत रहा।

बैठक में विशेष सचिव शिक्षा डाॅ. संदीप भटनागर, उप सचिव सुनील शर्मा, निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा अशोक शर्मा, सर्वशिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक डी. सी. राणा के अतिरक्त एलएलएफए एसपीओ और डाईट के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS