युवाओं को बेहतर बेहतर शिक्षा, रोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाने के प्रति प्रतिबद्ध प्रदेश सरकार

0
243
education and employment

education and employment

“प्रदेश सरकार युवाओं को बेहतर शिक्षा ए रोज़गार और जीवन में आगे बढ़ने के बेहतर अवसर उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं”

प्रदेश विश्वविद्यालय के सभागार में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ;एनएसयूआई के 42वें समारोह के अवसर पर छात्रों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कहा कि ने कहा कि विश्वविद्यालय में शांति व पढ़ाई का माहौल बनाए रखने की आवश्यकता है जिसमें सभी छात्रों और छात्र संगठनों को अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अशांति व हिंसा फैलाने से कोई लक्ष्य हासिल नहीं हो सकता बल्कि मिल.जुलकर सभी को अपनी बात प्रशासन के सम्मुख रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के माहौल को किसी भी कीमत पर खराब नहीं होने दिया जाएगा और शरारती तत्वों से कड़ाई से निपटा जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को विशेष अधिमान दे रही है। प्रदेश सरकार ने अपने चुनावी वायदे को पूरा करते हुए जमा दो तथा इससे अधिक शिक्षित बेरोजगार युवकों को एक हजार रुपये प्रतिमाह की दर से कौशल विकास भत्ता देने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। युवाओं को उद्योगों में रोजगार या स्वरोजगार में सक्षम बनाने के लिए उनके कौशल विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही राज्य में तकनीकी शिक्षा का विस्तार भी किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सात जिलों में सरकारी क्षेत्र में बहुतकनीकी संस्थान कार्य कर रहे हैं और बाकी पांच जिलों. बिलासपुर,कुल्लू, सिरमौर, किन्नौर तथा लाहौल स्पिति में भी इस वर्ष बहुतकनीकी संस्थान शुरू किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा में गुणात्मक सुधार की दिशा में प्रयासरत है। सरकार ने निर्णय लिया है कि महाविद्यालय स्तर तक पाठ्यक्रमों में बदलाव लाकर इसे स्तरोन्नत किया जाएगा। पाठ्यक्रम इस प्रकार तैयार किए जाएंगे कि विद्यार्थियों को रोज़गार मिलने में सहायता मिल।

उन्होंने कहा कि एनएसयूआई देश का अग्रणी छात्र संगठन है, जिसका गठन वर्ष 1971 में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी की प्रेरणा और मार्गदर्शन में हुआ। आज यह संगठन धर्मनिरपेक्षता,समाजवाद, विविधता में एकता और सुशासन के आदर्शांे पर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के शांति व सद्भाव के पदचिन्हों पर चलती है और पार्टी का यह युवा अग्रणी संगठन भी इसी विचारधारा पर चल रहा है। उन्होंने कहा कि संगठन का लक्ष्य अध्ययन की दिशा में निरंतर आगे बढ़ना और युवाओं को राष्ट्रभक्ति से जोड़ना है। उन्होंनेे इस बात पर प्रसन्न्ता व्यक्ति की कि हिमाचल प्रदेश में भी यह संगठन मजबूती से कार्य कर रहा है और हजारों युवा इससे जुड़े हैं।

प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.ए.डी.एन वाजपेयी ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि वीरभद्र सिंह की लगन, मेहनत और साधना युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं, जो रात.दिन प्रदेश और प्रदेशवासियों की सेवा में तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की दूरदर्शी सोच और कुशल नेतृत्व में प्रदेश ने उन्नति के नए आयाम स्थापित किए हैं और उनके मार्गदर्शन में प्रदेश विश्वविद्यालय ने भी विकास की नई ऊंचाइयों को छूआ है।

एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रदेश प्रभारी निखिल द्विवेदी और संगठन के राज्य अध्यक्ष यदुपति ठाकुर ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय के लोक प्रशासन विभाग की प्राध्यापक डा.ममता मोक्टा की पुस्तक (ष्ममता की छांव में) का विमोचन भी किया।

इस अवसर पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया।

विधायक बम्बर ठाकुर अजय महाजन एवं संजय रतन, विश्वविद्यालय की कार्यकारी समिति के सदस्य एवं पूर्व उप.महापौर हरीश जनारथा , हि.प्र पथ परिवहन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया, एएनएसयूआई के पूर्व पदाधिकारी अतुल शर्मा, महेंद्र सतान व देवेंद्र बुशैहरी सहित संगठन के अन्य पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS