पिछले 3 महीनों से शिमला में धरने पर बैठे दृष्टिहीनों की समस्याओं को लेकर प्रदेश सरकार ने मूंद ली आंखें

0
657
blind-protest-in-shimla-city
फाइल चित्र अमर उजाला

शिमला- हिमाचल प्रदेश कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) की राज्य कमेटी ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने दृष्टिहीनों की समस्याओं को लेकर आंखें मूंद ली हैं जो की बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रदेश के दृष्टिहीन लोग अपनी मांगों को लेकर अपनी एसोसिएशन के माध्यम से पिछले तीन महीनों से शिमला में धरने पर बैठे हैं व सचिवालय के बाहर कई प्रदर्शन कर चुके हैं परन्तु प्रदेश सरकार मौन है।

पढ़ें: दृष्टिहीनों को नहीं सुन रही सरकार, मागो को लेकर सड़क पर लेट शिमला में किया चक्का जाम

कम्युनिस्ट पार्टी का कहना है कि दृष्टिहीनों द्वारा उठाए गए मुद्दे न्यायसंगत, तर्कशील व वैधानिक हैं। कोई भी संवेदनशील सरकार शारीरिक तौर पर अक्षम लोगों की समस्याओं को समझेगी परन्तु इस संवेदनहीन सरकार ने मानवीय संवेदनाओं को कोल्ड स्टोर में डाल दिया है व इसे जनता के दुःखों से कोई वास्ता नहीं है।

पार्टी ने दृष्टिहीनों से अपील करते हुए कहा है कि वे अपनी ज़ायज मांगों को लेकर डटे रहें व जनता उनके साथ है। वे अपने संघर्ष को व्यापक बनाएं। पार्टी ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि वह दृष्टिहीनों की मांगों को तुरन्त पूर्ण करे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें