गद्दी समुदाय बयान को मीडिया ने द्वारा तोड़-मरोड़ कर किया पेश :वीरभद्र

0
121
virbhadra singh
फाइल चित्र:वीरभद्र सिंह फेसबुक

शिमला मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा गद्दी समुदाय पर दिए गए बयान ने काफी तूल पकड लिया है। मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने अपनी सफाई में कहा कि गद्दी बोर्ड के अध्यक्ष से जुड़े मेरे वक्तव्य को मीडिया द्वारा तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है जबकि मेरे कहने का तात्पर्य यह था कि प्रदेश में भाजपा राज्य अध्यक्ष के मुकाबले राज्य गद्दी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष के ज्यादा अनुयायी हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में ही गद्दी कल्याण बोर्ड का गठन हुआ तथा प्रदेश को इस समुदाय पर गर्व है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सदैव गद्दी समुदाय के कल्याण के प्रति प्रतिबद्ध है और भविष्य में भी रहेगी। उन्होंने कहा कि बात का बतंगड़ बनाना भाजपा की पुरानी आदत है।

पढ़िए क्या था मुख्यमंत्री का विवादित बयान

दरअसल ऊना में सीएम ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती पर निशाना साधा और कहा था कि सत्ती बीजेपी के अध्यक्ष हैं तो क्या हुआ। अध्यक्ष तो गद्दी सभा के भी होते हैं।

सीएम द्वारा दिए गए इस बयान पर गद्दी समुदाय भड़क गया था। गद्दी नेता विशाल नैहरिया ने सीएम के इस बयान को उनके समुदाय का अपमान बताया। विशाल का कहना है कि सीएम का ये बयान गद्दी समुदाय के प्रति उनकी संकीर्ण सोच को दिखाता है। ऐसा बयान देकर उन्होंने गद्दी समुदाय को कमतर आंकने की कोशिश की है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS