पुरे गाँव को ठेंगा दिखा बगैला पंचायत प्रधान ने अपने घर के लिए बनवाली सडक,पर लोग पैदल चलने को मजबूर

0
1129
karsog-kufridhar-road

करसोग- कैसे लगता है जब आपके द्वारा ही चुने गए प्रतिनिधि एक तरफ आपको विकास जैसे झूठे वायदे कर के भ्रमित कर रहे हों और दूसरी तरफ आपको अपने विश्वास में लेकर आपके साथ खिलवाड कर रहे हों तो इससे ज्यादा घटिया और शर्म की बात क्या हो सकती है। ऐसा ही मामला करसोग ग्राम पंचायत बगैला में देखने को मिला जहाँ की प्रधान भुवनेश्वरी आरोपण ने अपने फायदे के लिए सरकारी सडक काट कर अपने घर के लिए सडक तैयार कर दी जिसके कारण आम जनता को परेशानियों का सामना करना पड रहा है। यह कहना है ग्राम पंचायत बगैला के स्थानीय निवसियों का।

लोगो का कहना है कि करसोग से कुफरीधार सडक पर ग्राम पंचायत बगैला के प्रधान के द्वारा सडक काट कर अपने घर को सडक बनाई गई। लोगों को सडक सुविधा होने के बाबजूद अपने घरों के लिए पैदल सफर करना पड रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि जब वह सड़क की शिकयात पंचायत प्रधान से करते हैं तो वह इनसे सीधे मुंह बात नहीं करती, यहाँ तक कि जब ग्रामीण इस बात पर आपत्ति जतातें हैं तो प्रधान लोगो को यह तक कह देती है कि “जो करना है कर लो

लोगो का यह भी कहना है कि इस सडक पर हिमाचल परिवहन निगम की एक बस सुबह के समय और एक बस शाम के समय ही चलती है।

स्थानीय लोगो का कहना है कि शिवरात्रि के चलते लोग ने अपने घरों के लिए समान की खरीदारी की थी। तथा शिवरात्रि के ठीक एक दिन पहले शाम के समय जाने वाली बस कुफरीधार से पहले लगभग 3 किलो मीटर पीछे से लोग बस से उतर गए क्योंकि रास्ता ठीक नहीं होने की वजह से बस का आगे जाना संभव नहीं था। जिस कारण लोगों को सड़क होने के बावजूद शिवरात्रि का सामान अपनी पीठ पर लाद कर बाकी का रास्ता पैदल ही तय करना पडा। यहाँ तक कि कुछ लोगो को निजी वाहनों से घर जाने के लिए 300रुपये तक खर्च करने के लिए मजबूर होना पड़ा! जिस कारण लोगो को भारी परेशानीयों का सामना करना पड रहा है।

एक तरफ लोगों के द्वारा चुने गए प्रतिनिधी अपनी पंचायत का विकास का वायदा कर के लोगों को विश्वास मे ले लिया जाता है। और वहीँ दूसरी और जनता के हितों और उनके विश्वास के साथ खिलवाड किया जा रहा है। जिस कारण आम जनता बुरी तरह से त्रस्त है

स्थानीय लोगो का कहना है कि पंचायत का तो विकास ही पूरी तरह से ठप पडा हुआ है! लोगो ने कहा कि पंचायत प्रधान का घर वाला भी सरकारी कर्मचारी है। सता के नशे मे चुर हो कर सरकारी सम्पति का नुकसान किया जा रहा है। जिसका उदहारण सरकारी सडक को ही काट दिया गया है और बडी गाडियों का आवागमन भी पूरी तरह से ठप पडा हुआ है जिस कारण हिमाचल परिवहन निगम को भी रोज का नुकसान उठाना पड रहा है।

लोगो ने कहा कि सम्भन्दित विभाग इस पर अम्ल कर उचित कार्यवाही करे। ताकि बस कुफरीधार तक पहुंच सके,और लोगों को आवागमन मे सुविधा मिल सके।

इस सडक को 2-3 साल पहले भी काटा गया था। लेकिन विभाग के द्वारा कोई भी कार्यवाही अमल मे नही लाई गई। और न ही उस जगह से सडक को ठीक किया गया। जल्दी से जल्दी इस समस्या का समाधान किया जाए। ताकी जनता को आने जाने मे सुविधा हो सके।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS