छत्तीसगढ़-तेलंगाना-कर्नाटक में लगाए हिमाचली सेब के पौधों ने 2 साल में फल देना किया शुरू

0
295
Himachal-Apple-Tree-in-South-India

बिलासपुर- पुरे देश में हिमाचली सेब की की काफी मांग और धूम है रसीला और पोष्टिक हिमाचली सेब भारत के हर कोने में भेजा जाता है, आपको जानकर हैरानी होगी कि अब देश के छत्तीसगढ़, तेलंगाना व कर्नाटक राज्यों में अब सेब की फसल लहलहाना शुरू हो गई है। जी हाँ! गर्मी बहुल राज्यों में शुमार छत्तीसगढ़, तेलंगाना व कर्नाटक में प्रगतिशील बागबान हरिमन शर्मा की विकसित सेब की वैरायटी एचआरएमएन-99 (HRMN 99) के पौधों ने फल देना शुरू कर दिया है। इसके प्रमाण के लिए वहां के बागबानों ने फलों से लदे सेब के पौधों की फोटो हरिमन शर्मा को व्हाट्सऐप के माध्यम से भेजी है।

इसमें अहम बात यह है कि इन राज्यों में ये सेब के पौधे 2 साल पहले ही रोपे थे, जो अब फल दे रहे हैं। इससे अब छत्तीसगढ, कर्नाटक व तेलंगाना राज्य भी सेब उगाने वाले राज्यों की श्रेणी में शुमार हो गए हैं। प्रगतिशील बागबान हरिमन शर्मा ने देश के करीब 25 राज्यों में एचआरएमएन-99 (HRMN 99) वैरायटी के सेब के पौधे वितरित किए हैं।

करीब दो साल पहले उन्होंने छत्तीसगढ़, कर्नाटक व तेलंगाना में भी सेब के पौधे भेजे थे। छत्तीसगढ़ राज्य में हरियाली दीदी से मशहूर पुष्पा साहू के घर में उगे सेब के पौधे में फल आना शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ में रायपुर की रहने वाली पुष्पा साहू ने हरिमन शर्मा से करीब दो साल पहले सेब की पौधे की मांग की थी, जिसके बाद उन्होंने यह सेब का पौधा मकान के छत पर लगाया।

साहू दंपति की मांग

पुष्पा साहू देश के इनोवेटिव फार्मरों में शुमार हैं तथा उनके पति केके साहू इंदिरा गांधी कृषि विवि रायपुर में साइंटिस्ट हैं। जिन्होंने बागबान हरिमन शर्मा की विकसित की गई गर्म जलवायु में उगने वाली सेब की वैरायटी के पौधों में रुचि दिखाई। साहू दंपति ने हरिमन शर्मा से सेब के पौधों की डिमांड की।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS