chamba-regional-hospital

चंबा- क्षेत्रीय अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट का पद रिक्त होने से दस माह से अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन नहीं हो पा रहे हैं। जिला के दूरस्थ क्षेत्र से आने वाले मरीजों को मजबूरन निजी क्लीनिकों में महंगे दाम पर अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन करवाने को मजबूर होना पड़ रहा है।

रेडियोलॉजिस्ट के रिक्त पद को भरकर राहत पहुंचाने की लोगों की गुहार पर भी कोई सुनवाई नहीं हो पाई है। जानकारी के अनुसार अस्पताल में तैनात रेडियोलॉजिस्ट के फरवरी में सेवानिवृत्त होने के बाद से सीटी स्कैन व अल्ट्रासाउंड मशीनें बंद होकर धूल फांक रही हैं। दस माह गुजरने के बाद भी सरकार अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट की तैनाती नहीं कर पाई है, इस कारण मरीजों का मर्ज बढ़कर दोगुना हो गया है। इसके अलावा अस्पताल में एक्स-रे रूम में भी व्यवस्था जुगाड़ के सहारे चलाई जा रही है।

चंबा जिला की करीब पौने छह लाख की आबादी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का भार क्षेत्रीय अस्पताल पर है। जिला के विभिन्न हिस्सों से आपात स्थिति के दौरान अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन के लिए मरीजों को चंबा रेफर किया जाता है, मगर अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट न होने से मरीजों को निजी क्लीनिकों का रुख करना पड़ रहा है। लोग सरकार से जल्द रेडियोलॉजिस्ट के रिक्त पद को भरने की मांग विभिन्न मंचों से उठा चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो पा रही।

नहीं हो रहे एक्सरे

चंबा में इकलौते एक्सरे तकनीशियन के छुट्टी पर जाने के कारण चंबा अस्पताल में अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन के बाद अब एक्सरे भी नही हो रहे है। जिस कारण लोगों को एक्सरे करवाने के लिए अपनी जेब ढीली कर निजी क्लीनिकों में जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इस कारण लोगों ने स्वास्थ्य विभाग व प्रदेश सरकार की कार्य प्रणाली पर रोष पनप गया है।

चिकित्सकों के रिक्त पदों को भरने के लिए निदेशालय से पत्राचार जारी है। उम्मीद है कि जल्द सरकार की ओर से सकारात्मक पहल होगी। रेडियोलॉजिस्ट का पद रिक्त होने से अल्ट्रासाउंड व सीटी स्कैन पर ब्रेक लग गई है, जहां तक एक्सरे का सवाल है तो चंबा अस्पताल में एक ही एक्सरे तकनीशियन है जो छुट्टी पर है जिस कारण एक्सरे नहीं हो पा रहे हैं।

डॉ. विनोद शर्मा, सीएमओ चंबा

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS