ओवर टेक करने के चक्कर में आपस में भिड़े बस चालक, राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगा जाम

0
2845
Shimla Private Buses

शिमला- राजधानी शिमला में निजी बस चालकों के अधिक कमाई के चक्कर में आगे निकलने की होड़ में लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा है। सरेआम नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, लेकिन प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। बस चालक अधिक सवारियों के लिए मारपीट तक उतारू हो रहे हैं। वहीं बसों में ओवर लोडिंग व आगे निकलने के चक्कर में तेज रफ्तार बस चला लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। शुक्रवार को शोघी की ओर से आ रही निजी बस को दूसरी बस ने संकट मोचन के पास ओवर टेक किया और बस के आगे बस को खड़ा कर दिया।

इसके बाद दोनों बस चालक उतर गए और आपस में गालीगलौच करने लग पड़े। इस कारण यहां पर लंबा जाम लग गया। राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब आधा घंटा तक जाम लगा रहा। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने दोनों चालकों का चालान काटा लेकिन बस चालकों की मनमानी से आम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

आम जनता को भुगतना पड़ रहा खामियाजा

हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) के कड़े आदेशों के बाद भी निजी बस चालकों के हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। निजी बस चालकों में बढ़ रही प्रतिद्वंदिता निर्धारित समयसारणी का पालन नहीं करना है। मनमर्जी से बसों को रूटों पर दौड़ाया जा रहा है।

अधिक से अधिक सवारियां उठाने के चक्कर में अकसर बस चालक व परिचालक आपस में उलझ पड़ते हैं और बीच सड़क में बसों को खड़ा कर झगड़ा करना शुरू कर देते हैं। इससे जहां जाम की स्थिति बनती है वहीं समयसारणी का उल्लंघन करने वाले चालकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ता है।

नियमित रूप से बसों की समयसारणी का निरीक्षण किया जाता है, यदि फिर भी कोई नियमों का उल्लंघन कर रहा है तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी -प्रशांत देष्टा, आरटीओ, शिमला

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS