water-wastage-by-mC-shimla-sanjay-chauhan

प्रथम चरण मे 500 मीटर तक का कार्य 30 सितंबर तक पूरा कर लिया जाएगा इस प्रथम चरण के कार्य से ही पानी की लीकेज रुकने से पानी मे 2 एम एल डी तक की बढ़ौतरी हो जाएगी

शिमला- गिरी पेयजल आपूर्ति योजना जो शिमला शहर को पानी की आपूर्ति करती है से रोजाना 4-6 एम एल डी पानी योजना के करीब 1000 मीटर यानी एक किलो मीटर के भीतर ही लीकेज मे बर्बाद हो रहा है और शहर को मात्र 6-9 एम एल डी पानी की ही आपूर्ति हो पा रही है,!शिमला शहर मे पानी की किल्लत को देखते हुए निगम द्वारा पानी की लीकेज वाली इन पाइप को बदलने का कार्य किया जा रहा है!

शिमला के महापौर शिमला संजय चौहान ने कहा कि 16 सितंबर से शिमला में रोजाना पानी की आपूर्ति की जाएगी, सैंज स्थित गिरी पेयजल आपूर्ति योजना के निरीक्षण के बाद महापौर ने ये जानकारी दी, इस निरीक्षण के दौरान निगम के जल विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे!

mc-shimla-water-supply-giri-10

तकनीकी विशेशज्ञ के मुताबिक जहाँ इस योजना मे पहले मात्र 6.4 एम एम की एक्स-60 ग्रेड की पानी की पाइप को लगाया गया था वहीं अब योजना से एक किलो मीटर तक जहाँ पानी की अधिकतर लीकेज हो रही है को दोहरी पाइप लाइन से बदला जा रहा है जो 7.9 एम एम की एक्स-70 ग्रेड की पाइप लाइन होगी ताकि भविषय मे इस तरह की स्थिति से दो चार ना होना पड़े!
mc-shimla-water-supply-giri-2

निगम महापौर ने कहा कि इस पाइप बदलने के प्रथम चरण मे 500 मीटर तक का कार्य 30 सितंबर तक पूरा कर लिया जाएगा इस प्रथम चरण के कार्य से ही पानी की लीकेज रुकने से पानी मे 2 एम एल डी तक की बढ़ौतरी हो जाएगी, उन्होने ये भी बताया कि शहर को 16 सितंबर से रोजाना पानी की आपूर्ति की जा सकेगी वहीं दूसरे चरण का कार्य लगातार जारी रहेगा! एक किलो मीटर तक के पाइप बदलने के इस कार्य मे नगर निगम 3.52 करोड़ की राशि खर्च कर रहा है और बाकी लीकेज को भी अमृत योजना के तहत शीघ्र की ठीक कर दिए जाने की योजना है!

mc-shimla-water-supply-giri-12

इसके अतिरिक्त निगम के अधिकारियों द्वारा देहा खड्ड का भी निरीक्षण किया गया जिससे बरसात मे गिरी क्षेत्र मे सड़क निर्माण से भारी मात्रा मे आ रही रही गाद की स्थिति मे एक वैकल्पित स्रोत से शिमला को पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके!

नगर निगम ने बताया कि शिमला शहर मे हर ज़ोन मे बल्क मीटर लगाने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है जिससे हर ज़ोन मे दिए जाने वाली पानी की मात्रा को जाँचा जा सके और सुधार हेतु उचित कदम उठाए जा सके! महापौर ने जल विभाग को गिरी से रोजाना 12 एम एल डी तक पानी की आपूर्ति के निर्देश दिए है ताकि शिमला शहर मे पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके!

mc-shimla-water-supply-giri-14

mc-shimla-water-supply-giri-8

mc-shimla-water-supply-giri

mc-shimla-water-supply-giri-5

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें