शिमला- आज सुबह जब मैने भारी बरिश में खुले आसमान के नीचे तम्बू लगाकर 108 दिनो से 48-48 घण्टो तक भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों के साथ सारे समाचार पत्रों पर मुख्यमंत्री की पिछ्ले कल छात्रों पर की गई कडी टिप्पणियो को पढ़ा तो निशि्चत तौर पर बहुत दुख हुआ। जिसमें कल मुख्यमंत्री साहब ने कहा कि ये लोग पुरी साल भर तम्बू लगाकर ना तो खुद पढते है और ना तो ओरों को पढ़ने देतें हैं। पहले तो हम ये पूछना चाहते है कि हमने पूरी साल भर कब तम्बू लगाया? रही बात पढ़ाई की तो मुख्यमंत्री साहब और कुलपति साहब पिछ्ले कई सालों और वर्त्तमान का रिकॉर्ड देखें सबसें ज़्यादा टॉपर, नेट (NET) सेट (SET) और जेआरएफ (JRF) इन्हीं छात्रों से है।छात्रों की मांगो के लिये लड़ने वाले छात्रों को प्रोफ़ेशनल लोग कहा गया। सीएम साहब छात्र् क़भी प्रोफेशनल नही हो सकते वे सिर्फ़ एमए (MA),एमएससी (MSC), एम फिल (M.PHIL), पीएचडी तक की पढाई करने के लिए किसी भी विश्वविद्यालय में जाते हैं फिर किसी और फील्ड में आगे काम करते हैं इसीलिये छात्र् कभी भी प्रोफ़ेशनल नही हो सकते।

HPU SFI

जिस रूसा को सीएम साहब और कुलपति साहब अपनी सबसे बडी उपलब्धि बता रहे हैं तो बताएं की हर रोज हर एक कालेज के छात्र को प्रदेश विश्वविद्यालय के चक्कर क्यूं काटने पड़ते हैं?

सबसे बडे लोकतंत्र में एससीए चुनाव चुनावों को बंद करके कहा जा रहा है की आओ मैदान में,हम तो कब से कह रहें है की चुनाव करवाओ उतारो अपनी एनएसयूआई को दिखते हैं किसकी हार और जीत होती हैं।

HP University

जहाँ कल बात होनी चाहिए थी की हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कितने बजट की कमी है और 250 से अधिक अध्यापकों के पद कब भरे जाएंगे?, इनके ऊपर किसी भी प्रकार की बात न करते हुए सिर्फ़ छात्र संगठन एसएफआई को टारगेट किया गया। कहा गया की इनमे संस्कार की कमी हैं । सीएम साहब आपका बेटा तो हर किसी के ऑफिस में मारता है और लोगों की आखों को फोड़ता हैं। हम तो सिर्फ़ अपनी मांगों के लिये शान्ति पूर्वक तरीक़ो से 108 दिनों से भूखहड़ताल कर रहे है।

हम बोल रहे है हमें अध्यापकों ,कक्षाएं छात्रवास, बसें, एससीए चुनाव और हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट दो ताकि हम लोग अपनी पढाई को सुचारु रूप से आगे कर सके।

मुख्यमंत्री साहब हमें भी खुले आसमान के नीचे भूखें पेट सोने का शौक नही हैं।

नोवल ठाकुर

एचपीयू छात्र

Newspaper Cutting: Jagran

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS