मणिपुर में शहीद हुए हिमाचल के वीर जवान भूपेंद्र को नम आंखों के बीच अंतिम विदाई

0
637
himachali martyr

मंडी- मणिपुर में शहीद हुए हिमाचल के वीर जवान भूपेंद्र को नम आंखों के बीच अंतिम विदाई दी गई। शहीद की पत्नी के सलामी देते ही पूरा गांव रो पड़ा। हिमाचल के मंडी जिला के उपमंडल गोहर की मौवीसेरी पंचायत के भूपेंद्र कुमार ठाकुर का अंतिम संस्कार बुधवार को राजकीय सम्मान के साथ हजारों नम आंखों के बीच किया गया। सेना ने शहीद भूपेंद्र का पार्थिव शरीर बुधवार को उनके घर राजकीय सम्मान के साथ पहुंचाया।

martyr bhupender kumar himachal

सुबह 6 बजे। एसडीएम गोहर राघव शर्मा को सूचन मिली कि शहीद भूपेंद्र का पार्थिव शरीर 8 बजे सुंदरनगर पहुंचेगा। एसडीएम राघव शर्मा ने तुरंत पंचायत प्रधान मौवीसेरी को सूचना दी। पिपलु गांव में एसडीएम 8.30 बजे शहीद भूपेंद्र के पार्थिव शरीर को सलामी दी। उसके बाद 8.43 बजे चैलचौक में व्यापार मंडल और स्थानीय लोगों ने शहीद के पार्थिव शरीर पुष्प अर्पित किए। उसके बाद चैलचौक से शहीद भूपेंद्र का पार्थिव शरीर एंबुलेंस में मौवीसेरी के लिए हुआ।

Sundernagar Himachal

सुबह करीब नौ बजे अमर रहे नारों के साथ शहीद भूपेंद्र का पार्थिव शरीर घर पहुंचा। परिजनों के रोते बिलखने की चीखों से पूरे गांव में मातम छाया रहा। पिता गौरी शंकर कमर पकड़कर फूट फूट कर रोए। सैनिकों के कंधे से तिरंगे पर लिपटा शहीद भूपेंद्र का पार्थिव शरीर जैसे ही नीचे रखा गया तो शहीद की पत्नी नीतू ने बहादुरी का परिचय देते हुए भारत माता की जय के नारे लगाने शुरू किए। यह मंजर देख सभी लोगों की आंखें भर आई। इसके बाद हजारों लोगों ने शहीद भूपेंद्र के अंतिम दर्शन किए।

इस दौरान हजारों लोगों ने शहीद भूपेंद्र के अंतिम दर्शन किए। मां नागण बस रोती रही कि बेटा भिंद्रू मुझे भी साथ ले चल। वहां मौजूद हर किसी की आंखे छलक पड़ी। शहीद भूपेंद्र सिंह के पार्थिक शव के परिजनों को दर्शन करवाने के बाद 11.20 बजे अंतिम यात्रा श्मशानघाट के लिए रवाना हुई। इस बीच हजारों की संख्या में लोग शव यात्रा में शामिल हुए। भूपेंद्र अमर रहे के नारों से पूरा सेगलागलू गांव गूंज उठा।

Photo: बिंदर ठाकुर

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS