44 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे छात्र-छात्राओं में आक्रोश बढ़ता देख फिर पुलिस के पीछे छुपे माननीय कुलपति

0
620
hp university

शिमला- हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में शुक्रवार को छात्रों ने उग्र प्रदर्शन किया। 44 दिनों से हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एसएफआई के बैनर तले क्रमिक भूख हड़ताल जारी रहने के बाद भी अभी तक मांगें पूरी न होने के चलते छात्रों ने कुलपति कार्यालय के बाहर उग्र प्रदर्शन किया।

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में स्वच्छता मिशन पर सवालिया निशान लगना शुरू हो गए हैं।

इस दौरान एसएफआई कार्यकर्ताओं ने कुलपति कार्यालय में घुसने का भी प्रयास किया लेकिन वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें रोका। इस बीच एसएफआई कार्यकत्र्ताओं व सुरक्षा कर्मियों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।

HP University SFI

काफी देर तक चले इस प्रदर्शन के कारण हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में माहौल गर्मा गया। इस बीच एसएफआई कार्यकत्र्ताओं ने विश्वविद्यालय के अधिकारियों का रास्ता रोका और अधिकारियों को खाद्य सामग्री भी भेजी। इससे पहले एसएफआई कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय परिसर में रैली निकाली। हाथों में खाद्य सामग्री लिए एसएफआई कार्यकर्ताओं ने परिसर में रैली निकाली और पिंक पैटल्स चौक पर धरना भी दिया। विश्वविद्यालय के 2 अधिकारियों को एसएफआई कार्यकत्र्ताओं ने खाद्य सामग्री उनके हाथों में दी।

HPU VC

एसएफआई 44 दिनों से अपनी 46 मांगों को लेकर विश्वविद्यालय परिसर में क्रमिक भूख हड़ताल चलाए हुए है। पूर्व में 24 घंटे की भूख हड़ताल चलाने के बाद भी मांगें पूरी न होने के चलते अब 48 घंटे की क्रमिक भूख हड़ताल चलाई जा रही है। एसएफआई के विश्वविद्यालय इकाई अध्यक्ष नोवल ठाकुर ने कहा कि विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं 44 दिनों से क्रमिक भूख हड़ताल पर हैं लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन ने अभी तक मांगों को पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि होस्टल में रह रहे छात्रों ने भी अब एक टाइम का खाना छोड़ दिया है, इसके बाद भी मांगों को पूरा करने के लिए उचित कदम नहीं उठाया जा रहा है।

HPU SFI Hunger Strike

शुक्रवार को विश्वविद्यालय परिसर में एसएफआई के प्रदर्शन, रैली व प्रदर्शन के चलते अतिरिक्त पुलिस तैनात कर दी गई है। नोवल ठाकुर ने कहा कि होस्टल में रहने वाले छात्रों द्वारा एक समय का खाना छोडऩे का एसएफआई स्वागत करती है। उन्होंने कहा कि यदि मांगें शीघ्र पूरी नहीं हुईं तो क्रमिक अनशन को आमरण अनशन में तबदील किया जाएगा। शुक्रवार को भी क्रमिक भूख हड़ताल जारी रही। उधर, लोक संस्कृति मंच ने छात्र आंदोलन का समर्थन किया है।

HPU SFI

Photos: Amar Ujala

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS