छात्र मांगों को लेकर विवि में शुरू हुई निर्णायक लड़ाई, अब 48 घंटे की क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठेंगे छात्र

1
520

शिमला- छात्र मांगों को लेकर विवि प्रशासन के आश्वासन प्रयाप्त नहीं, लिखित में दिया जाए, हाई पावर कमेटी को सार्वजनिक नही तो कम से कम ईसी में चर्चा के लिए लाए। प्रशासन न तो एससीए चुनाव बहाल करना चाहता है, न फीस वृद्धि को कम करना चाहता है और न ही हाई पावर कमेटी की रिपोट को सार्वजनिक करना चाहता है।

एचपीयू एसएफआई इकाई ने छात्र मांगों को लेकर निर्णायक लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है। एसएफआई इकाई ने बुधवार को प्रेस वार्ता में साफ किया कि आंदोलन को तेज करते हुए 11 मई से 48 घंटें के लिए क्रमिक भूख हड़ताल की जा रही है। एसएफआई इकाई अध्यक्ष नौवल ठाकुर ने कहा कि गत दिनों छात्रों की मांगों को लेकर जो बैठकें हुई हैं उनमें र्सिफ आश्वासन दिया गया है । इन बैठकों में विवि कुलपति की गैर मौजूदगी रही और नाकारात्मक रवैया रहा।
Students-Hunger-Strike-HP-University

छात्रों का कहना है कि उन्हें निष्कासित छात्रों की वापसि के नाम पर आंदोलन खत्म करने के लिए कहा जा रहा है जबकि छात्रों की मांगों पर किसी प्रकार का लिखित आश्वासन नहीं दिया जा रहा । एसएफआई ने साफ किया कि आश्वासन अब नहीं चलेगा आने वाले दिनों में एक कदम और बढ़ते हुए अगले 48 घंटों में क्रमिक भूख हड़ताल जारी रहेगी और जरूरत हुई तो आम्रण अनशन किया जाएगा।

48-Hours-hunger-strike-HP-University

छात्रों ने कहा कि गत दिनों हुई बैठकों में जिला प्रशासन का कहीं न कहीं सकारात्मक रवैया रहा। जिसके लिए उन्होने जिला प्रशासन का आभार व्यक्त किया।

HPU-SFI

हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट को ईसी में चर्चा के लिए लाया जाए

एसएफआई विवि इकाई सचिव विपिन शर्मा ने कहा कि यदि प्रशासन हाई पावर कमेटी को सार्वजनिक नही करना चाहता है तो कम से कम हाई पॉवर कमेटी की रिपोर्ट को ईसी में चर्चा के लिए लाए। उन्होने कहा कि विवि प्रशासन न तो एससीए चुनाव बहाल करना चाहता है, न फीस वृद्धि को कम करना चाहता है और न ही हाई पावर कमेटी की रिपोट को सार्वजनिक करना चाहता है।
Students-Protest

उन्होने कहा कि विवि प्रशासन र्सिफ आश्वासन के नाम पर चाहता है कि भूख हडताल समाप्त हो जाए। छात्रों ने साफ किया है कि क्रमिक भूख हड़ताल तब तक जारी रहेगी जब तक हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया जाएगा या फिर ईसी में चर्चा के लिए नहीं लाया जाएगा व फीस वृद्धि को वापिस नहीं लिया जाता।
Students-Politics

Students Protest

HP-University-Fee-Hike

HP-University-EC

HP-University- Shimla

HPU-High-Power-Committe-Report

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

1 COMMENT

Comments are closed.