एशिया कप में गोल्ड मैडल जीत देश का नाम बुलंद करने वाले हिमाचल के एकमात्र पुरुष खिलाड़ी के अभिनंदन लिए नहीं पहुंचा कोई नेता या अधिकारी

0
988
vishal bhardwaj asia cup kabbadi gold mdealist

ऊना- हिमाचल प्रदेश में एशिया के अंडर-20 जूनियर कबड्डी कप में देश के झंडे को बुलंद करने वाले खिलाड़ी को अपने ही राज्य में उपेक्षा का शिकार होना पड़ा है। एशिया कप में गोल्ड मैडल लेकर लौटी भारतीय टीम में शामिल हिमाचल के एकमात्र पुरुष खिलाड़ी विशाल भारद्वाज जब अपने गृह जिला ऊना पहुंचे तो कोई भी उनके अभिनंदन के लिए नहीं पहुंचा।

ग्राम पंचायत देहलां को छोड़कर न तो कोई प्रशासनिक अधिकारी और न ही कोई राजनेता व न ही खेल संस्थाओं का कोई प्रतिनिधि उनके अभिनंदन के लिए पहुंचा। गांव देहलां के कृषक विद्यासागर और अंजु के पुत्र विशाल भारद्वाज को बचपन से ही कबड्डी का खुमार था। उसके खेल के प्रति जुनून को देखते हुए उसे स्पोट्रस होस्टल बिलासपुर भेजा गया। अपने उम्दा प्रदर्शन के चलते अब तक विशाल 7 राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धाओं में हिस्सा लेकर हिमाचल का नाम रोशन कर चुका है।

विशाल भारद्वाज के उम्दा प्रदर्शन के चलते ही उसका चयन अंडर-20 जूनियर एशिया कप के लिए हुआ। भारतीय टीम में विशाल हिमाचल का एकमात्र खिलाड़ी चयनित हुआ था। ईरान के तेहरान में 13 से 19 अप्रैल के बीच हुए एशिया कप के दौरान भारतीय कबड्डी टीम ने तमाम देशों की टीमों को पराजित कर गोल्ड मैडल हासिल किया।

देश लौटी इस टीम के खिलाडिय़ों का दूसरे राज्यों में तो जोरदार अभिनंदन हुआ और उन्हें उनके राज्यों ने ईनाम के तौर पर नकद राशि पुरस्कार का ऐलान भी हुआ है। मगर दुर्भाग्यवश हिमाचल के एकमात्र युवा खिलाड़ी विशाल भारद्वाज को पुरस्कृत करना तो दूर, उनके अभिनंदन तक को कोई नहीं पहुंचा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS