एचपीयू छात्र 16 दिन से क्रमिक भूख हड़ताल पर, प्रशाशन पुलिस बल से फिर दबा सकता है आंदोलन

0
335
hpu sfi protest

शिमला- आम छात्रों से जुड़ी मूलभूत सुविधाओं की 44 मांगों को लेकर 16 दिन से क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे एसएफआई कार्यकर्ताओं ने विवि प्रशासन के नोटिस के बावजूद अनशन समाप्त नहीं किया। एसएफआई ने हड़ताल को समाप्त करने के लिए विवि प्रशासन पर दबाव बनाए जाने को थमाए नोटिस के विरोध में शुक्रवार को ब्लैक डे मनाया।

HPU SFI Black Day

अनशन पर बैठे तीन कार्यकर्ताओं के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता सड़क किनारे पुस्तकालय के बाहर खुले में मुंह पर काली पट्टियां बांध कर सुबह से जुट गए। बारह बजे तक हड़ताल समाप्त करने के दिए गए समय के बावजूद कार्यकर्ता नहीं हटे। नोटिस और हड़ताल को समाप्त करवाने के किए जा रहे प्रयासों का विरोध किया और इसे सीधे तौर पर लोकतंत्र की हत्या करार दिया।

इकाई पदाधिकारियों ने बाकायदा डीएसडब्लू को लिखित में नोटिस का जवाब भी सौंपा, जिसमें साफ लिखा है कि वे परिसर में किसी तरह का माहौल खराब नहीं कर रहे हैं। विवि प्रशासन के धमकाने से वे अनशन नहीं तोड़ेंगे। प्रशासन यदि ऐसा चाहता है तो वह लिखित में दे कि सौंपे गए मांगपत्र में शामिल 44 मांगों को कब तक पूरा किया जाएगा।

HPU Campus Watch

अनशन पर छात्राओं ने संभाला मोर्चा

शुक्रवार को छात्रा कार्यकर्ताओं ने मोर्चा संभाला। शुक्रवार को एसएफआई की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य ला छात्रा ज्योति ठाकुर, एमफिल इतिहास की छात्रा पल्लवी, और अर्थशास्त्र की छात्रा गीतांजलि नेगी बैठी।

SFI HPU

पूरा दिन परिसर में डटी रही पुलिस

अनशन समाप्त करने को प्रशासन द्वारा दिए गए बारह बजे तक अल्टीमेटम के बाद सुबह से ही विवि परिसर में बालूगंज थाना और बाहर से जवान तैनात कर दिए गए थे। अनशन स्थल पुस्तकालय के बाहर जवान और विवि के सुरक्षा कर्मी बराबर नजर बनाए हुए थे। करीब डेढ़ बजे पुलिस की क्यूआरटी विशेष दल की बस भी मौके पर पहुंच गई थी। उनके सामने ही छात्र मुंह पर काली पट्टियों को बांध कर बैठ अपनी मांग उठाने और जबरन आंदोलन को समाप्त करने का विरोध जताते रहे। कुलपति करीब एक बजे परिसर पहुंचे।

hp university Summerhill Shimla

जनजातीय छात्र संघ ने किया हड़ताल का समर्थन

जनजातीय छात्र संघ की विवि इकाई ने एसएफआई द्वारा आम छात्रों की मांगों को मनवाने को शुरू की गई भूख हड़ताल का समर्थन किया है। 16 दिनों से चली आ रहे इस आंदोलन को संघ के अध्यक्ष अरुण राणा और पूर्व सचिव अनिल नेगी ने जायज ठहराते हुए कहा कि उनका संघ इसे अंत तक पूरा समर्थन देगा।

HPU VC

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS