शिमला निगम नियमो को दिखा रहा ठेंगा, टेंडर खोले बिना ठेकेदार को दिया सीवरेज लाइन बिछाने का काम

0
261
Sewage line Scandal point

5 मार्च को टेंडर खोला जाएगा। हैरानी की बात यह है कि जिस कार्य के टेंडर तीन दिन बाद खुलेंगे, वह कार्य आधे से अधिक पूरा हो चुका है।

शिमला- नगर निगम में अधिकारी अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए नियमों को सरेआम ठेंगा दिखा रहे हैं। बिना टेंडर आमंत्रित किए एक ठेकेदार को सीवरेज लाइन बिछाने का काम अलॉट कर दिया।

निगम ने स्कैंडल स्थित आईसीआईसीआई बैंक के पीछे 150 एमएम डाया की सीवर लाइन बिछाने के लिए टेंडर कॉल किया है। साढ़े छह लाख रुपए के इस कार्य के लिए नगर निगम ने इच्छुक ठेकेदारों से 4 मार्च तक निविदाएं मांगी हैं। 5 मार्च को टेंडर खोला जाएगा। हैरानी की बात यह है कि जिस कार्य के टेंडर तीन दिन बाद खुलेंगे, वह कार्य आधे से अधिक पूरा हो चुका है। मौल के पर हुआ काम इसकी गवाही दे रहा है।

बैंक के पीछे पाइप मिट्टी के नीचे दबाई जा चुकी है और अब रास्ते को पक्का किया जाना है। गंगा राम आरा मशीन के साथ भी सीवर लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है। आरा मशीन की निचली तरफ लक्कड़ बाजार सड़क से नीचे काम लगभग पूरा हो गया है। यहां केवल कल्वर्ट के पास लाइन को जोड़ना शेष बचा है। सवाल यह है कि जो काम लगभग समाप्ति की ओर है, उसके टेंडर आमंत्रित कर निगम क्या साबित करने की कोशिश कर रहा है।

एक ही ठेकेदार को दिए हैं कई काम

कुछ ठेकेदारों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि आरा मशीन के साथ सीवर लाइन बिछाने का काम जिस ठेकेदार को दिया है, उसको निगम ने इस तरह के कई काम दिए हैं। दो से अधिक ठेके न दिए जाएं, सरकार की ओर से हर विभाग को यह निर्देश दिए गए हैं। निगम चहेतों को लाभ दिलवाने के लिए इन आदेशों की परवाह नहीं कर रहा है और नियमों के विपरीत एक ठेकेदार को एक साथ कई काम ठेके पर दे दिए जाते हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS