भाजपा विधायक पर महिला बीडीसी सदस्य के अपहरण और वोट के लिए 2 लाख रुपये रिश्वत की पेशकश का आरोप

0
385

सिरमौर- हिमाचल के जिला सिरमौर के ददाहू वार्ड से जीतीं बीडीसी सदस्य श्यामा देवी ने नाहन के भाजपा विधायक डा. राजीव बिंदल पर उन्हें किडनैप कर तीन दिन तक अन्य सदस्यों के साथ प्रदेश से बाहर एक होटल में रखने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उन्हें भाजपा के पक्ष में वोट डालने के लिए दो लाख रुपये रिश्वत देने की पेशकश भी की गई।

इस बाबत उन्होंने सदर थाना नाहन में मामला दर्ज करवाया है। रविवार को बैठक में श्यामा शर्मा को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच झड़प हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि मामला हाथापाई तक पहुंच गया। धक्का-मुक्की के बीच विधायक राजीव बिंदल और हिमफेड के चेयरमैन अजय ठाकुर के बीच तीखी नोकझोंक हो गई।

इस बीच, श्यामा देवी को बैठक से बाहर लाते समय उनके ससुर चूड़ सिंह भीड़ के धक्के से गिर गए।

इससे हंगामा और बढ़ गया। महिला ने मौके पर मौजूद भाजपा नेताओं पर धक्का-मुक्की करने और उनके ससुर से हाथापाई करने का आरोप भी लगाया। बीडीसी सदस्य श्यामा देवी के पति शेर सिंह ने एसपी को सौंपी शिकायत में कहा है

कि उनकी पत्नी को बीडीओ ऑफिस में पंचायत समिति की बैठक से कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अजय सोलंकी, अजय बहादुर सिंह, संजय गोयल और ददाहू निवासी विपिन गोयल जबरदस्ती हाल से खींचकर ले गए और उनकी पत्नी को किडनैप कर लिया। उन्होंने कहा है कि वह अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं तथा इन लोगों से जान का खतरा है।
बीडीसी सदस्य श्यामा देवी ने सदर थाना नाहन के एसएचओ तिलकराज शांडिल के समक्ष मीडिया को बताया कि भाजपा नेता एवं पूर्व प्रधान प्रेमपाल और नाहन के विधायक डा. राजीव बिंदल ने उन्हें किडनैप कर तीन दिन तक बीडीसी के अन्य सदस्यों के साथ प्रदेश के बाहर एक होटल में रखा। रविवार को भाजपा सदस्यों की कस्टडी के बीच उन्हें जबरन बैठक में ले जाया गया।

आरोप लगाया कि उन्हें भाजपा के पक्ष में वोट डालने के लिए प्रेमपाल ने 2 लाख रुपये रिश्वत देने की बात भी कही। सदर थाना प्रभारी तिलकराज शांडिल ने कहा कि महिला का बयान दर्ज लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। महिला की शिकायत पर पुलिस विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर रही है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS