अपनी जान को जोखिम में डाल कर करते है मौत के नाले को पार

0
388

आज शिमला में बुहत शौर होगा मीडिया वालों का फोटो खीचनें पर जोर होगा कल के हर न्यूज पेपर में प्रथम पेज पर धूमल जी का और राजा साहब जी का फोटो होगा अगर मीडिया सच्च में निडरता से अपना काम कर रहा है और समाजहित और देशहित में अपना योगदान दे रहा है तो कल के हर न्यूज पेपर में धूमल जी और राजा साहब जी की जगह ये तस्बीरें प्रथम पेज पर होनी चाहिये दोस्तों बुहत शर्म की बात है की आजादी के 69 बर्षो के बाद भी छोटे-छोटे बच्चे अपनी जान को जोखिम में डाल कर मौत के नाले को पार करते है ऐसे नाले पता नहीं कितने और होंगे लेकिन ये तोरनु नाला हिमाचल के जिला चम्बा के चुबाडी से लगभग 3 किलोमीटर की दुरी पर है और आज तो हद हो गई दोस्तों की एक बच्ची को मौत का नाला पार करते हुए गंम्भीर चोट आई है सोचो उस पिता और पर किया बीती होगी जो अपनी बच्ची को स्कूल पढ़ने के लिये भेजता है मरने के लिये नहीं और उस अध्यापक के दिल पर क्या बीती होगी जो बच्ची को रोज हँसते खेलते देखा करता था आज दर्द से तड़पते हुए देखा होगा लेकिन एक अध्यापक हर जगह गुहार लगा रहा है लेकिन उसकी कोई सुन नहीं रहा है लेकिन अब शायद एक बच्ची की दर्द भरी चीखें अन्धे व् बहरे कानों को सुनाई दे जाये लेकिन इसके लिये हर किसी को आगे आना होगा पत्रकार की कलम में बुहत ताकत होती है पत्रकार को अपनी कलम के जोर से सरकार को जगाना होगा

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS