शहर में पानी के बंटवारे में किया जा रहा गोलमाल

0
225

शिमला- राजधानी शिमला में पब्लिक के पानी का जमकर दुरुपयोग हो रहा है। शहर के 11 होटलों में पानी के अवैध कनेक्शन मिले हैं। मालरोड के एक होटल में तो पानी के सात कनेक्शन अवैध पाए गए हैं। इन होटलों में सालों से पानी का व्यावसायिक प्रयोग कर घरेलू दरों पर बिल चुकाया जा रहा था।

नगर निगम ने होटलों के पानी के कनेक्शन की जांच शुरू कर दी है। इसमें नगर निगम के ही कुछ कर्मचारी भी लपेटे में आ सकते हैं। हैरत इस बात की है कि जब बिल एमसी जारी करता है तो इतने सालों तक कर्मचारियों इस मामले का पता क्यों नहीं चला।

भरी बरसात में शहर के लोग जलसंकट का सामना कर रहे हैं और पब्लिक के हिस्से का पानी होटलों में बंट रहा है। नगर निगम द्वारा होटलों के पानी के कनेक्शनों की जांच में यह खुलासा हुआ है। प्रारंभिक जांच में अवैध कनेक्शन वाले 11 होटल पकड़े गए हैं।

निगम सूत्रों के मुताबिक अवैध कनेक्शन वाले होटलों की संख्या 50 से अधिक हो सकती है। बीते कई सालों से इन होटलों में पानी का व्यावसायिक प्रयोग कर बिल घरेलू दरों पर चुकाया जा रहा था। मालरोड के एक प्रतिष्ठित होटल में पानी के सात अवैध कनेक्शन पकड़े गए हैं।

नगर निगम आयुक्त पंकज राय ने कहा कि होटलों में पानी के घरेलू कनेक्शनों को व्यावसायिक कनेक्शनों में बदला जाएगा। जब से होटलों का संचालन हो रहा है तब से लेकर पेनल्टी भी वसूली जाएगी। किस स्तर पर लापरवाही हुई इसकी जांच के आदेश दिए हैं। लापरवाही बरतने वाले नगर निगम के कर्मचारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होगी।

होटलों के पानी के कनेक्शनों की जांच का जिम्मा नगर निगम के एसडीओ को सौंपा है। निगम अभियंता विजय गुप्ता ने बताया कि एसडीओ होटलों का निरीक्षण कर निगम प्रबंधन को मामले की रिपोर्ट सौंपेंगे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS