तेज़ रफ्तार ने ली जान, मना करने पर भी नहीं माना ड्राईवर

0
325

रामपुर- बस अभी पुल से पीछे ही थी कि इसमें सवार लोगों की रूह पहले ही कांपने लग गई थी। डरे सहमे लोगों ने हादसे को टालने की कोशिश भी की लेकिन नाकाम रही। पुलिस के अनुसार रामपुर के मच्छाडा खड्ड में हुई बस दुर्घटना में घायल हुए लोग दुर्घटना का कारण बस की तेज गति होना बता रहे हैं।

घायल ज्ञान सिंह, कविता, विवेक, सोहन लाल, राजेश कुमार, पूरनी देवी और देवी लाल नेगी ने कहा कि जिस रफ्तार से बस चल रही थी उसे देखकर पहले से ही रूह कांपने लगी थी। कुछ यात्रियों ने बस चालक को रफ्तार कम करने को भी कहा था लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी। जैसे ही पुल के पास बस पहुंची तो पुल से नीचे जा गिरी।

भूतपूर्व सैनिक ज्ञान सिंह ने कहा कि मैं पिछली सीट पर बैठा था बस की ब्रेक लगी तो ड्राइवर के पास बैग सहित पहुंच गया। इसके बाद बस पौने दो सौ फुट गहरे नाले में जा समाई। उसका पैर बस की सीट के नीचे दब गया और टांग फ्रेक्चर हो गई।

बच्चियों के सिर से उठा मां-बाप का साया

ये बस हादसा कई परिवारों को गहरे जख्म दे गया। किसी के घर का चिराग बुझ गया तो कोई अपनी तीन बेटियों को रोता बिलखता छोड़ गया। इस हादसे में मारे गए प्रेमराज कपूर और हिमेश कपूर पति-पत्नी थे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई है।

इन दोनों की तीन बेटियों के सिर से माता-पिता का साया सदा के लिए उठ गया। इन तीनों का सहारा अब सत्तर वर्षीय बूढ़ी दादी है, जिसे बेटे और बहु की मौत ने झकझोर कर रख दिया है। दुर्घटनाग्रस्त बस की रफ्तार से हर यात्री की रूह कांप गई थी।

प्रेम राज और उनकी पत्नी हिमेश कपूर शिमला अपना उपचार करने के लिए निजी बस पर सवार हुए थे। लेकिन उनको क्या मालूम था कि वह अब कभी घर नहीं लौटेंगे। दुर्घटनाग्रस्त बस में दो सगे भाई अमित और विवेक भी सफर कर रहे थे। शिमला में पालीटेक्निक कर रहा अमित छोटा था उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बड़ा भाई विवेक घायल अवस्था में रामपुर के खनेरी अस्पताल में दाखिल है और उसका उपचार चल रहा है।

उसे अभी तक यह मालूम नहीं था कि उसका छोटा भाई उसे सदा के लिए छोड़ गया है। विवेक कोयल गांव का रहने वाला है और उसके पिता का चार साल पहले ही निधन हो गया था। विवेक की तीमारदारी के लिए उनके रिश्तेदार बबलू शर्मा और प्रेम पाल जुटे थे।

ये लोग हुए हैं घायल

घायलों में पवन कुमार (42), सुनील कुमार (44), देवराज (40), लायकराम (40), प्रताप (37), यशवंत कुमार (35), सोहन लाल (35), जितेंद्र (22), मोहन लाल (55), कविता (25), रोशन लाल (50), गोकल (46), उषा किरण (21), ध्यान सिंह (56), अतिवल (48), उमा देवी (49), राजेश (43), देवीलाल नेगी (40), सोहन लाल (39), विवेक (24), प्रमोद (20), नरेंद्र (22), प्रेम कंडक्टर (39), संतोष (44), पूरनी देवी (38) शामिल हैं।

वहीं डीएसपी रामपुर सोम दत्त ने बताया कि पुलिस ने हादसे पर मामला दर्ज कर लिया है। हादसे में छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS