पेड़ पर लटका दिया निगम ने बोर्ड –पार्किंग वसूली हटाई जाये

0
381
पेड़ पर लटका दिया निगम ने बोर्ड --पार्किंग वसूली हटाई जाये

निगम की सड़क किनारे पार्किंग वसूली गैर कानूनी,पर्यावरण सुरक्षा की दुहाई देने वाले कितने गंभीर ! पेड़ पर लटका दिया निगम ने बोर्ड एक ओर ग्रीन टैक्स की तैयारी ! दूसरी ओर तोड़ दी मर्यादाएँ सारी येलो लाईन पर पार्किंग वसूली हटाई जाये,जन साधारण को सुविधाएं दी जाएँ जब हाऊस टैक्स /शॉप टैक्स/रोड टैक्स /सफाई टैक्स,तो पार्किंग फीस क्यों!कहा जाये आम आदमी,जिसने एक चाय पीने के लिए पार्क करनी है कार एक किलो दाल खरीदने के लिए पहले चुकाओ 50 रुपए पार्किंग फीस , निगम की लूट बाजारी से जनता परेशान

पेड़ पर लटका दिया निगम ने बोर्ड --पार्किंग वसूली हटाई जाये

अचानक शुक्रवार साँय जैसे ही चौड़ा मैदान की ओर जाना हुआ तो कुछ मित्र वहाँ मिलगए और कहने लगे चलो यहाँ एक कप चाय पी लेते हैं और कुछ जन समस्याओं पर भी आपसे बात कर लेते हैं ! यह कहना है विकास समिति टुटू के अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता का ! गुप्ता ने बताया की जैसे ही वह अपनी कार सिसिल के सामने लंबे अरसे से चल रहे पार्किंग स्थल पर पार्क करने लगे तो एक सज्जन साड़ी वर्दी में उनके पास आन खड़ा हुआ और 50 रुपये पार्किंग चार्जिज मांगने लगा ! गुप्ता ने कहा की जब उन्होने इस पार्किंग को पेड पार्किंग बनाए जाने पर जानकारी लेनी चाही तो वसूली कर्ता ने बताया की 50 रुपये 6 घंटे तक वाहन खड़े करने की फीस है और निगम ने इसे पिछले 6 महीने से ठेके पर दे रखा है ! अध्यक्ष ने कहा की उन्होने अपना वाहन हटाया और अपने मित्रों को कहा भाई इससे बेहतर होगा की ढाबे की चाये की जगह बालजीज या अल्फा की चाये पी लेंगे क्योंकि निगम ने हमे सड़क किनारे अब चाये पीने लायक नहीं रखा है ! गुप्ता ने कहा की बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है की जहां भी नगर निगम कोई पार्किंग स्थल देखरहा है उसे कमर्शीयल रूप में इस्तेमाल करने की सोच रख रहा है जबकि आम जनमानस जो वर्षों से शिमला शहर में रह रहे हैं उन्हे जनसुविधाए देने पर विचार नहीं कर रहा है ! उन्होने कहा की वर्तमान समय में ऐसा लग रहा है की नगर निगम सिर्फ लोगो का खून चूसने का कार्य कर रहा है और सभी इलाकों को कमर्शीयल रूप में आँका जा रहा है चाहे गृह कर वसूली हो या शॉप टैक्स या पार्किंग फीस या ग्रीन टैक्स जैसे प्रस्ताव लाने की बात कह रहा हो !

गुप्ता ने कहा की बहुत ही खेद का विषय है की जो खुद शिमला ग्रीन की बात कर रहे हैं और पर्यावरण संरक्षण के दावे कर रहे हैं वह ही नियमो की धज्जियां उड़ा रहे हैं !

पेड़ पर लटका दिया निगम ने बोर्ड --पार्किंग वसूली हटाई जाये

समिति अध्यक्ष ने कहा की पिछले दिनो ठेके पर एडवांस स्टडी चौक के ऊपर निगम द्वारा पार्किंग फीस वसूली और अब सिसिल होटल के सामने पार्किंग फीस वसूलना कहीं न कहीं निगम द्वारा जनता को बेफिजूल के बोझ तले डालना है और ठेके पर पार्किंग देना अपने चहेतों को लाभ देना दर्शाता है !
समिति अध्यक्ष ने कहा की सड़क किनारे पार्किंग वसूली बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि यदि आसपास के स्थानीय वासियों ने चौड़ा मैदान मार्केट से एक किलो दाल लेने भी आना हो या बच्चों को एक जूस भी पिलाने आना हो तो उन्हे पार्किंग के रूप में 20 रुपये की फ्रूटी/जूस की जगह पहले 50 रुपये अदा करने पड़ेंगे !

समिति महासचिव ठाकुर सिंह वर्मा,अमर सिंह वर्मा ,ओमप्रकाश शर्मा ,राजेश गोयल ,राजेश बाटला तथा अन्य पदाधिकारियों ने भी सैनीटोरियम हास्पिटल को आने -जाने वाले मरीजों तथा उनके तीमारदारों को भी एक मात्र सुविधाजनक पार्किंग स्थल पर निगम द्वारा फिजूल की पार्किंग टैक्स लगाने की बात कही है !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS