आधुनिक कूड़ा खाना – बनने लगा जी का जंजाल, बदबू शुरू, पर्यावरण प्रदूषित

0
322
waste-management-project-mc-shimla-tutu-taradevi-road

टूटू-तारादेवी मार्ग पर चलना दुश्वार
पूरा कूड़ा नष्ट नहीं किया जा रहा है ठेकेदार द्वारा
लग रहा है दिन-प्रतिदिन कूड़े का ढेर
हाई कोर्ट को उठा धुंआ – तो लिया संज्ञान –
अब लोअर कोर्ट भी आयेगा धुएं की चपेट में
समय रहते नहीं सख्ती दिखाई तो बर्बाद हो जाएगा चक्कर न्यायिक परिसर भी

waste-management-project-mc-shimla-tutu-taradevi-road

​बरिहाल स्थित कूड़ा सयंत्र संचालक रोजाना इकठ्ठा किये गए कूड़े के ढेर को आधुनिक मशीनो से पूरी तरह नष्ट नहीं कर रहा है जिस कारण टूटू तारादेवी मार्ग तथा आसपास के इलाके में रोजाना बदबू फ़ैलने लग गयी है !

विकास समिति अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने एक पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री को
तथा नगर निगम प्रशासन को अवगत करवाया कि यदि समय रहते कूड़ा संचालक के विरूद्ध सख्त कार्यवाही नहीं की तो वो दिन दूर नहीं जब इस कूड़े में भी लालपानी की तरह कूड़े के ढेर पर ढेर लग जाएगा और बाद में आग लग जायेगी !

नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की नगर निगम शिमला वर्षो से इस सयंत्र को अत्य-आधुनिक बता कर माननीय उच्च -न्यायालय को तथा स्थानीय जनता को गुमराह करता रहा जबकि एक वर्ष में ही निगम प्रशासन की पोल खुल गयी !

उन्होंने कहा कि 100 मीट्रिक टन क्षमता वाला आधुनिक कूड़ा सयंत्र पहले ही लालपानी में आंदढ़ी में चल रहा था और माननीय उच्च न्यायालय को तथा जनता को अत्य -आधुनिक बता कर उतनी ही (100 मीट्रिक टन ) क्षमता का अत्य -आधुनिक सयंत्र बता कर निगम अधिकारियों ने इसे बरिहाल में शिफ्ट करने का दवाब बनाया !

नागेन्द्र गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा प्रदेश की पूर्व धूमल सरकार तथा नगर -निगम शिमला ने डी.एल.ऍफ़.को लाभ देनें के उद्देश्य से एक नया हरियाली वाला सारा क्षेत्र बर्बाद कर दिया और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाया है जिसके लिए स्थानीय जनता उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी ! उन्होंने कहा कि यदि गंन्दगी का ढेर इसी तरह रोजाना लगता रहा और रोजाना कूड़े के ढेर की पूरी तरह डिस्पोजल नहीं हुई तो लालपानी की तरह इस स्थान पर भी कूड़े का ढेर पर ढेर लग जाएगा और गिद्दों-चील-कौवों के मंडराने से शिमला एयरपोर्ट पर भी हवाई नुकसान हो सकता है !
विकास समिति टूटू ने निगम तथा सरकार से समय रहते कम्पनी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है !
-नागेन्द्र गुप्ता

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS