भारतीय सेना का जवाब पाकिस्तान सेना की पांच पोस्ट कर दी तबाह

0
743
india-pakistan-border

india-pakistan-border
-FilePhot

“पाकिस्तानी सैनिकों ने एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा से लगे अग्रिम इलाकों में मोर्टार से गोले दागे जिससे जवाबी कार्यवाही में भारतीय सैनिकों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया और पाकिस्तान की पांच पोस्ट तबाह कर दी”

भारतीय सेना ने पुंछ के बीजी सेक्टर में पाकिस्तान की पांच पोस्ट तबाह कर दी है। फौज ने ये कार्रवाई तब की जब पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए इस इलाके में सीजफायर का उल्लंघन किया। खराब मौसम के बीच पाकिस्तान जम्मू.कश्मीर में एलओसी के अलग-अलग सेक्टरों में करीब एक हफ्ते में कई बार सीजफायर तोड़ा है। पाकिस्तान ने मेंढर सेक्टर में भी गोलीबारी की है। बार-बार हो रही ये फायरिंग आतंकियों की घुसपैठ कराने की बड़ी साजिश की तरफ इशारा कर रही है।

पाकिस्तान ने भारतीय चौकियों को निशाना बनाने के लिए मोर्टार और रॉकेट के अलावा ‘हैवी कैलिबर’ हथियारों का इस्तेमाल किया ए जिससे सीमा की निगेहबानी कर रहे सैनिक करारा जवाब देने के लिए मजबूर हो गए। गोलीबारी में कोई हताहत नहीं हुआ है।

सेना अधिकारियों ने बताया कि पिछले आठ दिनों में संघषर्विराम उल्लंघन की 13 घटनाएं हुई है। उन्होंने बताया कि इस साल एक जनवरी से पांच अगस्त तक पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्षविराम का 70 बार उल्लंघन किया हैए जो पिछले साल इसी अवधि की तुलना में 85 प्रतिशत अधिक है।

नियंत्रण रेखा के पास हुई गोलीबारी की हालिया घटनाओं की वजह से वर्ष 2003 में हुए भारत-पाक सीमा संघर्ष विराम समझौते पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं। राजग के शासनकाल में भारत और पाकिस्तान के बीच विश्वास बहाली के उपाय के तहत दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम पर सहमति बनी थी और 26 नवंबर ,2013 को इसके एक दशक पूरे हो जाएंगे।

उन्होंने बताया कि बीते नौ दिनों से प्रतिदिन पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की खबरें आ रही हैंए जो भारतीय बलों को भी जवाबी कार्रवाई के लिए मजबूर कर रही हैं।

ब्रिगेडियर सेनगुप्ता ने कहा, ‘पाकिस्तान सेना बीते कुछ दिनों से हमारी अग्रिम चौकियों पर रोजाना गोलीबारी कर रही है। वे मोर्टार, रॉकेट, आरपीजी और उच्च क्षमता वाले हथियारों से भारी गोलीबारी कर रहे हैं। ‘भीमभेर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास तीन स्तरीय तारबंदी का ऑपरेशन कमान संभाल रहे सैन्य अधिकारी ने बताया कि वे न सिर्फ हमारे चौकियों पर गोली चला रहे है, बल्कि सीमारेखा से सटे गांवों को भी निशाना बना रहे हैं।

उन्होंने कहाए ष्पाकिस्तान भारत-पाक संघर्ष विराम का कोई सम्मान नहीं दिखा रहा है। वे हम पर गोलियां बरसा कर इसका रोजाना उल्लंघन कर रहे हैं। ‘सीमा क्षेत्र में तैनात टुकड़ी के कर्नल अनई शंकर ने कहा, ‘यही नहीं, यहां हमारी चौकियों पर पाक बीएटी हमले की भी आशंका है, जिसके मद्देनजर हमारे जवान 24 घंटे सतर्क एवं चौकन्ने हैं।’

सेनगुप्ता ने कहा कि पाकिस्तान की गोलीबारी का मकसद आतंकियों को घुसपैठ में मदद और नियंत्रण रेखा पर तैनात हमारे सैनिकों के मनोबल को कमजोर करना है लेकिन हम पाकिस्तानी सेना के मंसूबों को किसी भी कीमत पर कामयाब नहीं होने देंगे।
PTI

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS