कुल्लू: यत्न संस्था ने बिजली महादेव मंदिर क्षेत्र में चलाया सफाई अभियान

0
716
YATN-NGO-Kullu-Bijli-Maha-Dev

yatn-ngo-kullu

कुल्लू से सड़क द्वारा 10 किलोमीटर तथा 3-4 किलोमीटर पैदल यात्रा कर हम जिस स्थान पर पहुँचते है वह जगह देश वह विदेशों में शिव भगवन के मन्दिर बिजली महादेव के नाम से प्रसिद्ध है।बिजली महादेव का नाम हमारे होठों में आते हे हमारा मन श्रधा वह उत्साह से भर जाता है।हो क्यूँ ना। ये जगह है ही इतनी सुंदर और पवित्र की यहाँ बार-बार आने का मन करता है।यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य कुल्लू वासियों वह पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है्‌.. .इसीलिए जो एक बार यहाँ आता है वह बार -बार यहाँ आना चाहता है।

लेकिन पिछले कुछ समय से यहाँ की प्रकृति के साथ जिस प्रकार खिलवाड़ हो रहा है वह बहुत चिंतनीय है।2438 मीटर की ऊँचाई में होने के कारण साफ़ सफाई की वयवस्था हेतु कोई उचित प्रबंधन नहीं है।सावन महीने अगस्त वह सितम्बर महीने में लाखों के हिसाब से देसी वह परदेसी लोग यहाँ आते है।

BijliMahadevClean-Up-Campaign

यत्न द्वारा पिछले साल भी यहाँ एक सफाई अभियान चला के लोगों को जागरूक किया था जिसका काफी सकारात्मक परिणाम देखने को मिला था और स्तिथि काफी बदली थी।हमारी टीम इस बार फिर से इस समस्या पे काम कर रही है .पिछले वर्ष संस्था द्वारा एक रिपोर्ट भी बनाई गई थी जिसे पिछले उपायुक्त अमिताभ अवस्थी जी को सोंपा गया था।उसके बाद उनके बदली होने के बाद नए उपायुक्त शरभ नेगी ने इसपे कुछ करने का आश्वासन दिया था लेकिन उनका भी तबादला हो गया था।नए उपायुक्त राकेश कँवर से भी संस्था का दल 2 बार मिल चूका है लेकिन प्रशासन के और से कोई सहायता संस्था को नहीं मिली।क्यूंकि यह परिसर वह मन्दिर के लिए रास्ता वन से हो कर गुज़रता है इसलिए हमारा एक दल ने वन विभाग के DFO कुल्लू B.L Negi के साथ बैठक की जिसके परिणाम स्वरूप वह स्वयम मन्दिर परिसर गए और वहां उन्होंने मन्दिर कमेटी से सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने की हिदायत दी।परिणाम स्वरुप इस बार भंडारों में प्लास्टिक की प्लेटों की जगह पत्तों की पतलियां इस्तेमाल करेंगे।उन्होंने दुकानदारों के साथ भी बैठक की तथा उन्हें चेतावनी दी यदि गन्दगी इस बार भी इसी तरह फ़ैली तो उनकी अस्थायी दुकानों को बंद करवा दिया जायेगा।पिछली बार से इस बार लोग जागरूक है।हर दुकानदार ने कूड़ेदान लगाया है और सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

BijliMahadev-Kullu

वहां पे किस तरह से साफ सफाई को प्रशासन वह शासन द्वारा ठीक रखा जा सके और जो नहीं गलने सड़ने वाला कूड़ा है उसे किस प्रकार वहां से उठा के लाया जा सके।किस प्रकार लोगों को उनकी जिमेवारी का एहसास दिलाया जा सके।इसके लिए संस्था पिछले वर्ष से प्रयासरत है।इस बार लोगों को यत्न garbage bag बांटें जा रहे है जिसमे वह अपना कूड़ा उठा के ले जा सकें तथा आनन फानन से भी कूड़ा उठा के ले जा सके। पिछले वर्ष के तरह इस बार भी लोगों को जागरूक करने के साथ अस्थायी कुड़ेदानो को लगाया गया है।जिनको खाली करने की व्यवस्था सथानीय युवक मंडल वह संस्था के स्वयमसेवको द्वारा की जायेगी।स्थानीय भाषाओँ में बेनर,पोस्टर तथा पैम्फलेट भी बांटे जा रहे है।इस अभियान में युवाओं को भी जोड़ा जा रहा है।सोशल नेटवर्किंग फेसबुक द्वारा युवाओं को स्वयंसेवक के रूप में काम करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।अभी तक 100 के करीब युवाओं ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है संस्था के साथ इस काम को करने के लिए। इस पुरे अभियान में लगने वाले सारे खरचे को बिना किसी सरकारी मदद के लोगों से donation के रूप में इकठह करके किया जा रहा है।संस्था सरकार से आने वाले समय में धार्मिक स्थलों विशेषकर जो काफी ऊँचाई पे है के कूड़ा प्रबंधन के लिए विशेष योजना बनाने का अग्रेह करेगी।

यत्न के इस प्रयत्न को आपके समाचार माध्यम द्वारा हम ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाना चाहते है ताकी लोगों में हमारे धार्मिक स्थलो के रास्तों वह हमारी वन संपदाओं को बचाने के लिए जागरूकता आ सके।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS